• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Rajgarh
  • Rajgarh - नुक्कड़ नाटक से समझाए जमीन उपजाऊ बनाने के तरीके और रासायनिक खाद से फसलों को होने वाले नुकसान
--Advertisement--

नुक्कड़ नाटक से समझाए जमीन उपजाऊ बनाने के तरीके और रासायनिक खाद से फसलों को होने वाले नुकसान

किसान सशक्तिकरण अभियान के तहत प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के द्वारा 4 सितंबर इंदौर से...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 04:51 AM IST
किसान सशक्तिकरण अभियान के तहत प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के द्वारा 4 सितंबर इंदौर से प्रारंभ की गई रथ यात्र 5 सितंबर को राजगढ़ जिले में पहुंची। उक्त यात्रा का 13 सितंबर को ब्यावरा में समापन होगा।

रथ यात्रा सारंगपुर तहसील में प्रवेश करने के दौरान पड़ाना पहुंची। ग्राम पंचायत पड़ाना व ग्रामीणों ने रथ यात्रा में आए भैया एवं दीदियों का फूल मालाओं से स्वागत किया। इस दौरान सशक्त किसान देश की शान नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जमीन को उपजाऊ कैसे बनाए जाए, जैविक खेती करना व रासायनिक खाद से जमीन फसलों को होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी। धमतरी छत्तीसगढ़ से आई ब्रम्हाकुमारी अखिलेश बहन ने बताया कि अन्नदाता किसान जो कि हमारे श्रम देवता है इनके द्वारा रासायनिक खाद का उपयोग कर जो खेती की जाती है व रासायनिक खाद इतनी महंगी हो गई है कि इसका उपयोग करने से किसान कमजोर होते जा रहे हैं। कर्ज में डूबते जा रहे हैं और निर्धन हो रहे हैं। उन को सशक्त बनाने के लिए हम रथ यात्रा के माध्यम से किसानों के पास पहुंच रहे हैं। मन को शुद्धता के लिए किसानों को प्रेरित करने का कार्य कर रहे हैं। जैविक व योगिक खेती ही किसानों को करना चाहिए। हिमाचल प्रदेश से आए हरनाम ने शासन से मुक्त होने के लिए किसान सशक्तिकरण के लिए नारे लगवाए। जिला प्रभारी मधु दीदी ने कहा कि रासायनिक खाद डालकर खेती करने से बन जाती है और उसकी फसल का उपयोग हम खाने के लिए करते हैं जिसके चलते हमारे शरीर बनता जा रहा है । राजेंद्र सोनी, जितेंद्र, दुर्गेश, लक्की, अमन सहित सरपंच प्रतिनिधि यशवंत माली, रोजगार सहायक रामबाबू गुर्जर, मोहन लाल शर्मा, श्रीनिवासन, सत्य नारायण पाटीदार, कमलेश व्यास, ओम पाटीदार, ग्राम सेवक गोपाल सेन, सतीश शर्मा सहित अन्य मौजूद थे।

नुक्कड़ नाटक

किसान सशक्तिकरण अभियान के तहत प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की रथ यात्राा पड़ाना पहुंची

किसान सशक्तिकरण अभियान के तहत प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की रथ यात्रा पड़ाना पहुंची।