Hindi News »Madhya Pradesh »Rajgarh» बिना संरक्षण जीर्ण हो रहे स्मारकों के लिए संरक्षित कराने की मांग की

बिना संरक्षण जीर्ण हो रहे स्मारकों के लिए संरक्षित कराने की मांग की

भास्कर संवाददाता| राजगढ़/माचलपुर नगर में कई प्राचीन स्मारक व धरोहरें लगातार जीर्ण होने से अपनी पहचान खो ती जा...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 03:25 AM IST

भास्कर संवाददाता| राजगढ़/माचलपुर

नगर में कई प्राचीन स्मारक व धरोहरें लगातार जीर्ण होने से अपनी पहचान खो ती जा रही हैं। माचलपुर को रियासत के समय हिमाचल नगरी के नाम से जाना जाता था। जहां भगवान शिव-पार्वती के विवाह की किवदंती से जुड़े प्राचीन स्थल सात फेरा, पनियारी-छनियारी स्मारक, चोर बावड़ी, गुप्तेश्वर महादेव मंदिर सहित एक दर्जन से अधिक प्राचीन धार्मिक व दार्शनिक स्थल स्थित हैं। लेकिन लगातार प्रशासन और पुरातत्व विभाग की उपेक्षा के चलते यह अपना अस्तित्व खोते जा रहे हैं। नागरिकों ने प्रशासन को इनकी सुध लेने व योजना तैयार करा, पुरातत्व या पर्यटन विभाग से इन्हें विकसित कराने की मांग की है।

लोक कथा की धुरी हैं देवरा बल्डी स्थित छनियारी-पनियारी: पं. भगवान प्रसाद मिश्रा के मुताबिक पनियारी और छनियारी दो महिलाएं थीं, जो होल्कर स्टेट इंदौर के समय तत्कालीन राजा के यहां काम करती थीं। इसमें पनियारी पानी भरने का काम करती थी, तो छनियारी बल्डियों पर छान (कंडे) बीनने का काम। दोनों बहनों ने अपनी यादों को जीवित रखने के लिए अथक मेहनत से अपने-अपने नाम के स्मारक यहां बनाए थे। जो आज भी नगर की देवरा बल्डी पर जीर्ण अवस्था में हैं।यहां पत्थरों पर आकर्षक नक्काशी से स्तूप बने हैं, जिनकी अब देखरेख नहीं हो पा रही।

पर्यटन या पुरातत्व विभाग को करना होगी पहल

ग्रामीण जगदीश सिंह तोमर और बजेसिंह राजपूत के मुताबिक पनियारी और छनियारी सहित यहां स्थित अन्य प्राचीन स्मारकों को संरक्षित करने के लिए जिला प्रशासन योजना बना सकता है। ताकि पुरातत्व विभाग या पर्यटन विभाग के जरिए इनके लिए जरूरी बजट आवंटित करा कर जीर्णोद्धार किया जा सके। वहीं स्थानीय लोग भी यहां हरियाली रोपने का काम कर सकते हैं।

इन स्थलों पर देखरेख व संरक्षण के लिए पुरातत्व विभाग से कहा जाएगा। ताकि वह यहां सर्वे कर प्राचीन स्मारकों को संरक्षित कर, जिले की पुरा संपदा को सहेज सकें। - कर्मवीर शर्मा, कलेक्टर राजगढ़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rajgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×