• Hindi News
  • National
  • Khilchipur News Mp News 100 Crores For Meeting Ramgonj Mandi Bhopal Rail Line And Tender For Narsinghgarh Railway Station

रामगंज मंडी-भोपाल रेल लाइन के लिए 100 करोड़ और मिले, नरसिंहगढ़ रेलवे स्टेशन के लिए होंगे टेंडर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल से रामगंज मंडी रेल लाइन का काम प्रगति पर है।

झालरापाटन से आगे अलग अलग स्टेशनों पर काम जारी, इस स्टेशन तक चलने भी लगी ट्रेनें

भास्कर संवाददाता|राजगढ़

रामगंज मंडी-भोपाल रेल लाइन परियोजना के लिए इस बार के रेल बजट में 100 करोड़ की राशि और स्वीकृत की गई है। इससे पहले मार्च में भी 200 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए थे। अब यह पूरा प्रोजेक्ट 2700 करोड़ का हो गया है।

नरसिंहगढ़ रेलवे स्टेशन अाैर ट्रैक निर्माण के लिए जल्द ही टेंडर जारी हाेने की प्रक्रिया प्रारंभ होने वाली है। रेलवे अधिकारियों की मानें तो नरसिंहगढ़ रेलवे स्टेशन और रेलवे ट्रैक 2021 के अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा और यहां भी रामगंज मंडी से ट्रेनों का सफर प्रारंभ हो जाएगा। अभी ट्रेनें झालरापाटन स्टेशन तक चलने लगी हैं। आगे की स्टेशनों पर काम तेजी से जारी है। ब्यावरा से भोपाल के बीच भूमि अधिग्रहण के बाद यहां भी जल्द काम प्रारंभ होगा। यह प्रोजेक्ट वर्ष 2022 तक पूरा करना है।

परियोजना फॉस्ट ट्रैक प्रोजेक्ट में शामिल होने से नहीं आएगी बजट की दिक्कत

2008 में शुरू हुअा था इस प्राेजेक्ट पर काम

रामगंज मंडी रेल लाइन प्रोजेक्ट का कार्य वर्ष 2008 से प्रारंभ हुआ था। इसके तहत रामगंज मंडी से भोपाल तक 262 किमी लंबे इस ट्रैक का निर्माण होना है। प्रारंभ में भूमि अधिग्रहण के मामलों के कारण बीच-बीच में काम काफी धीमी गति से चला। जब इस प्रोजेक्ट को फास्ट ट्रैक में शामिल किया गया, तब से इसकी मॉनीटरिंग सीधे पीएमओ कार्यालय दिल्ली से हो रही है।



भूमि अधिग्रहण में जिला प्रशासन कर रहा देरी

इधर, सांसद रोडमल नागर के कार्यालय से जानकारी प्राप्त हुई है कि परियोजना का कार्य सिर्फ भूमि अधिग्रहण नहीं होने के कारण ही अटक जाता है। अब भी 5-6 गांवाें से जुड़ी भूमि का अधिग्रहण अटका हुआ है, जिसमें जिला प्रशासन द्वारा तेजी नहीं दिखाई जा रही है।

यह रहेगा रूट : नयापुरा खिलचीपुर राजगढ़ ब्यावरा (जंक्शन) नरसिंहगढ़ श्यामपुर संत हिरदाराम नगर (बैरागढ़)

जरूरत पड़ी तो थर्ड पार्टी से लोन ले सकती है रेलवे

रेलवे सूत्रों की मानें तो यह प्रोजेक्ट फास्ट ट्रैक प्रोजेक्ट में शामिल है। ऐसे में बजट की दिक्कत नहीं आएगी। ऐसे नियम हैं कि फास्ट ट्रैक प्रोजेक्ट में बजट की दिक्कत अाए तो थर्ड पार्टी से लोन भी लिया जा सकता है।

अगले सप्ताह होगी रेलवे व जिला प्रशासन की बैठक

जिला प्रशासन भूमि अधिग्रहण मामलों को लेकर अगले सप्ताह रेलवे के साथ बैठक की तैयारी में है। कलेक्टर निधि निवेदिता ने बताया कि बहुत सारे प्रकरणों में भू-अर्जन हो चुका है। अब रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक होगी।

ब्यावरा में बनेगा जंक्शन

बढ़ेंगे व्यापार के अवसर, सफर होगा आसान, विद्यार्थियों को भी सुविधा। नई रेल लाइन पर ट्रेनें दौड़ने से मप्र सीधे राजस्थान से जुड़ जाएगा। यात्रियों का सफर आसान हो जाएगा। एक ओर जहां शैक्षणिक दृष्टिकोण से विद्यार्थियों को फायदा होगा। वहीं क्षेत्र में व्यापार की संभावनाएं भी बढ़ेंगी। गौरतलब है कि अभी भोपाल से कोटा पहुंचने के लिए बीना रुठियाई होते हुए जाना पड़ता है। इंदौर से जाने के लिए रतलाम होते हुए जाना पड़ता है। दोनों ओर से यह सफर लंबा पड़ता है। नई लाइन बनने से भोपाल-राजस्थान के बीच करीब 75 किमी का फेर कम हो जाएगा। वहीं ब्यावरा में जंक्शन बनेगा, जिससे यात्री व व्यापार दोनों में इजाफा होगा।

भोपाल से रामगंज मंडी रेल लाइन का काम फास्ट ट्रैक प्रोजेक्ट में शामिल है। इसके लिए बजट की दिक्कत नहीं आएगी, 2022 तक काम पूरा हो जाएगा। आरएस राजपूत, एडीआरएम, भोपाल

खबरें और भी हैं...