• Hindi News
  • National
  • Rajgarh News Mp News An Elderly Woman In Bhojpur Reached The Wrong Train As Suspect Caught By The Police

गलत ट्रेन में बैठा वृद्ध भोजपुर पहुंचा संदिग्ध समझकर पुलिस ने पकड़ा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पर्ची में लिखे नंबर के आधार पर संपर्क कर पुलिस ने परिवार से मिलाया

भास्कर संवाददाता| खिलचीपुर

रोजाना की तरह गश्त कर भोजपुर डायल 100 पुलिस को 8 जुलाई को लावारिस और संदिग्ध हालत में एक 60 वर्षीय वृद्ध नेशनल हाइवे पर खिलचीपुर की ओर आता मिला। प्रधान आरक्षक अब्दुल गफ्फार ने उससे पूछताछ कर उसका पता-ठिकाना पूछा, लेकिन वह कुछ नहीं बता पाया।

इस पर उसे थाने लाया गया। जब उसकी जेब से तलाशी ली तो उसकी जेब से आधार कार्ड व फोन नंबर लिखी एक पर्ची मिली। उसके नंबर पर संबंधित व्यक्ति से संपर्क किया, लेकिन बात नहीं हो पाई। जैसे तैसे फोन लगा तो नंबर गुजरात में रहने वाले वृद्ध के दामाद अरुण ठाकुर से बात हुई। पुलिस द्वारा अरुण को वृद्ध के हुलिए, उम्र आदि के बारे में बताया तो उन्होंने वृद्ध की पहचान अपने ससुर सुखदेव ठाकुर निवासी निरखपुर पटना बिहार के रूप में रूप में की। इस पर पुलिस ने दामाद अरुण ठाकुर को भोजपुर थाने बुलाया और ससुर सुखदेव को उनके सुपुर्द कर दिया। पुलिस की इस कार्रवाई की उन्होंने प्रशंसा करते हुए पुलिस को धन्यवाद दिया।

गलत ट्रेन में सवार होने से भटक गया था सुखदेव

पुलिस को एक 12 दिन पूर्व मिले वृद्ध सुखदेव के दामाद अरुण ठाकुर ने बताया कि वह अपने घर से अकेले निरखपुर पटना बिहार से गुजरात जाने के लिए निकले थे। पढ़े-लिखे नहीं होने से वह दूसरी ट्रेन में बैठ गए। जहां राजस्थान के कोटा आकर भटक गए और भटकते हुए राजगढ़ जिले के भोजपुर थाने की सीमा पर पहुंच गए। जहां गश्ती के दौरान भोजपुर पुलिस को वह पैदल जाते मिले। पर्ची में लिखे नंबर पर संपर्क नहीं होने से 10-11 दिन वृद्ध को पुलिस ने अपने पास रखकर परवरिश की है। जब दामाद से संपर्क हुआ तो उन्हें बुलाया गया। शुक्रवार को अरुण थाने पहुंचा जहां ससुर सुखदेव को दामाद अरुण के सुपुर्द कर दिया।

खबरें और भी हैं...