विज्ञापन

पहले जरूरतमंद युवाओं की तलाश कर डालते थे नशे की लत, फिर कराते थे लूट

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 03:50 AM IST

Rajgarh News - जिले में लूट के आरोपियों का एक गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है। गिरोह के मुख्य सदस्य पहले ऐसे युवाओं की तलाश करते थे...

Khilchipur News - mp news first the needy youth were searching for addiction and then used to loot
  • comment
जिले में लूट के आरोपियों का एक गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है। गिरोह के मुख्य सदस्य पहले ऐसे युवाओं की तलाश करते थे जाे जरूरतमंद हों। उन्हें अपने झांसे में लेकर नशे की लत लगाने के बाद इन युवाओं से लूट की वारदात कराते थे। गिरोह के तीन युवा पुलिस की गिरफ्त में आए है, जबकि सरगना के मुख्य आरोपी अभी भी फरार है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी को न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगा है, ताकि अन्य खुलासे भी हो सके।

एसपी प्रदीप शर्मा ने प्रेस वार्ता में बताया कि 26 फरवरी को मलावर क्षेत्र के सुंदरपुरा गांव में अज्ञात बदमाशों ने राहगीर से बाइक, फोन व रुपए लूट लिए थे। इसी तरह 12 मार्च को राजगढ़-खिलचीपुर के बीच राहगीर की बाइक अाैर पर्स की लूट लिए थे। दोनों घटनाओं में एमपी 37 एमएफ 0604 नंबर की बाइक का उपयोग किया। इसी से आरोपियों की पहचान पटना (कालीपीठ) निवासी संदीप पुत्र बीरमसिंह भील 20, मांगीलाल पुत्र बापूलाल भील 22 और खेरडखो निवासी रामबाबू पुत्र इमरतलाल को पुलिस ने पकड़ा है। आरेापियों के पास से लूट की बाइक के साथ ही मोबाइल अाैर नगदी बरामद किया।

छह लोगों का गिराेह, युवा करते थे लूट

एसपी श्री शर्मा ने बताया कि पूछताछ के दौरान पकड़े गए लुटेरों ने बताया कि गिरोह का मुख्य सरकार फरार है। गिरोह में छह लोग है। जामनकापुरा निवासी मुकेश पुत्र रोडजी भील और पटना निवासी मुकेश पुत्र बापूलाल भील मुख्य है। राजेश पुत्र लालसिंह भील इनका सहयोगी है। दोनों मुकेश ऐसे युवाओं की तलाश करते जिनकी जरूरतें ज्यादा हो। इन्हे पहले नशे की लत लगाकर आदी बनाया जाता था, फिर इसके बाद इनसे लूट कराकर वारदात को अंजाम दिया जाता था।

X
Khilchipur News - mp news first the needy youth were searching for addiction and then used to loot
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन