• Hindi News
  • National
  • Sarangpur News Mp News Of The 27 Machines In The District Black Listed Remaining 19 Therefore To Make New Correction Difficulty In Amendment

जिले में 27 में से 8 मशीनें ब्लैक लिस्टेड, बचीं 19 इसलिए नया अाधार बनवाने, संशोधन में दिक्कत

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नया आधार कार्ड बनवाने और कार्ड में संशोधन कराने के लिए जिलेभर में लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसका कारण यह है कि जिलेभर में आधार बनाने वाली कुल 27 मशीनों में से 8 को तय मानकों का पालन नहीं करने पर दो माह पहले ही ब्लैक लिस्टेड किए जा चुका है। फिलहाल जिले में कुल 19 मशीनें ही चल रही हैं।

स्थिति यह है कि खुजनेर में दो मशीन चल रही हैं। एक ब्लैक लिस्टेड हो चुकी है। करेड़ी में मशीन नहीं है। खिलचीपुर में मात्र एक मशीन है। ब्यावरा, जीरापुर, सुठालिया में दो मशीनें हैं। नरसिंहगढ़ ब्लॉक में सिर्फ में तीन मशीनें हैं। सारंगपुर ब्लॉक में पांच मशीनें हैं। एक तलेन में चल रही है। राजगढ़ शहर में एक है। इसके अलावा यहां तीन निजी बैंकों और पोस्ट ऑफिस में ही कार्ड बनाए जा रहे हैं। ऐसे में भीड़भाड़ अधिक होने के कारण लोगों को परेशान होना पड़ता है।

नए आवेदन प्रक्रिया में हैं

मानकों का पालन नहीं करने के कारण जिलेभर में कुल 8 मशीनें ब्लैक लिस्टेड हो गई हैं। कुछ नए आवेदन आए हैं, जोकि प्रक्रिया में हैं। -दीपक पलाश, जिला प्रबंधक, ई गर्वनेंस

ब्यावरा में परेशानी ज्यादा, राजगढ़ में सिर्फ एक वेंडर, तीन बैंकों और पोस्ट ऑफिस में बन रहे कार्ड
जानिए...लोगों को किस तरह की आ रही परेशानी

1. एक घंटे से खड़ा हूं, कार्ड में करेक्शन करवाना है: कार्ड बनवाने के लिए यहां की एक निजी बैंक में आए राजेश ने बताया कि आधार कार्ड में नया नंबर अपडेट करवाना है। यहां बैंक आए एक घंटा हो गया है। अभी नंबर नहीं आया है। कुछ पर्ची या टोकन तो नहीं दिया है। कहा है कि आप बाहर बैठें, आपका नंबर आएगा तब बुला लेंगे। कार्ड में आज ही करेक्शन करवाना जरूरी है। नहीं तो मेरा पेनकार्ड नहीं बन पाएगा।

2. बेटी का एडमिशन करवाना है, कार्ड में सुधार करवाने आए हैं : एक और महिला से हमारी चर्चा हुई, उन्होंने बताया कि बेटी का एडमिशन स्कूल में करवाना है। कार्ड में करेक्शन करवाने आए हैं। बेटी के पापा बाहर हैं, इस कारण मुझे आना पड़ा। आधे घंटे से खड़े हुए हैं, अभी नंबर नहीं आया है।

आधार कार्ड बनवाने और करेक्शन करवाने के लिए लोगों को इस प्रकार बैंक के बाहर करना पड़ता है इंतजार।

इसलिए करना पड़ा ब्लैक लिस्टेड

गौरतलब है कि पूर्व में आधार कार्ड बनाने के लिए गली-गली में वेंडर बनाए गए थे, जिन्होंने कार्ड बनाते वक्त कई गलतियां की। इस कारण ऐसे वेंडरों को शासन ने ब्लैक लिस्टेड कर दिया। अब उन कार्डों में सुधार करवाने और नए आधार कार्ड बनवाने के लिए लोगों को बैंकों के चक्कर लगाना पड़ रहे हैं।

नए कंेद्रों के लिए 12 आवेदन

नए केंद्र के लिए जिलेभर से जिला प्रबंधक ई गवर्नेंस के पास फिलहाल कुल 12 आवेदन पहुंचे हैं। जिनमें पांच आवेदन प्रक्रिया के लिए भेज दिए हैं। सात आवेदन और भेजना है।

पुराने कार्डों में इस प्रकार की गलतियां ज्यादा

आधार बनाते वक्त फोटो सही नहीं लगाया।

किसी की जन्मतिथि सही नहीं लिखी।

कहीं बच्चे के फोटो के साथ उसके पैरेंट्स का भी फोटो आ गया।

कहीं फोटो ठीक से नहीं खींचा।

इसलिए आधार कार्ड की पड़ रही जरूरत

एलपीजी की सब्सिडी पाने के लिए।

बच्चों को नर्सरी कक्षा में प्रवेश दिलाने के लिए।

सिम कार्ड खरीदने के लिए।

हितग्राही योजनाओं का लाभ लेने के लिए।

सम्पत्ति के रजिस्ट्रेशन के लिए भी आधार कार्ड जरूरी कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...