आत्मा परमात्मा के जैसी एक निराकार अदृश्य शक्ति है

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:15 AM IST

Rajgarh News - ब्रह्माकुमारी आश्रम की अाेर से थावरिया बाजार खाती कुंडी चौक पर पांच दिवसीय राज योग शिविर आयोजित किया जा रहा है।...

Khilchipur News - mp news spirit is a formless invisible force like spirit
ब्रह्माकुमारी आश्रम की अाेर से थावरिया बाजार खाती कुंडी चौक पर पांच दिवसीय राज योग शिविर आयोजित किया जा रहा है। शिविर का शुभारंभ बुधवार को किया गया। इसमें ब्रह्माकुमारी बहन सीमा ने आत्मा, परमात्मा शिव एवं उनके गुणों के बारे में विस्तार बताया गया।

उन्होंने कहा कि परमात्मा प्रेम, शांति एवं आनंद का सागर है। वह सभी गुणों में अनंत है। इसीलिए उनकी तुलना सागर से की जाती है। आत्मा भी परमात्मा के जैसी ही एक निराकार अदृश्य शक्ति है, जिसे सिर्फ दिव्य दृष्टि के द्वारा ही देखा एवं महसूस किया जा सकता है। परमात्मा एक ही है और वह निराकार ज्योति बिंदु स्वरूप है, जिनको हम शिवलिंग अथवा ज्योतिर्लिंग के रूप में पूजा करते हैं। सभी धर्मों की आत्माएं किसी न किसी रूप में निराकार ज्योति को अवश्य मानती हैं। उन्हें ही परमशक्ति परमात्मा कहा जाता है।

पांच दिन चलेगा शिविर

बुधवार से शुरू हुआ राज योग शिविर 5 दिन तक चलेगा। शिविर के आखिरी दिन राधा कृष्ण की आकर्षक झांकी भी सजाई जाएगी।इस अवसर पर कविता बहन, गोवर्धन व्यास, प्रेम माालाकार, अनिल गुप्ता, सूर्यप्रकाश झाला, जगन्नाथ मेहरवा, टेनसिंह राठौर, बनवारी कसेरा, राजेश सुमन, फूलचंद योगी, श्याम दांगी, रिंकू मालाकार, ओम वर्मा, कैलाश व्यास, शानु वर्मा, सचिन वर्मा, संतोष मेहरवा, राकेश मालाकार, रोशन, बद्री सहित भारी संख्या में मातृशक्ति मौज्ूद रही।

राजयोग शिविर का शुभारंभ करती ब्रह्माकुमारी दीदी।

X
Khilchipur News - mp news spirit is a formless invisible force like spirit
COMMENT