भगवान के स्मरण से मिलता है जीवन में आनंद : अनिरुद्धाचार्य

Rajgarh News - भागवत का एक अक्षर भी सुन ले तो जीवन का कल्याण हो जाएगा। जीवन भाग्य भागवत कथा सुनने से खुलता है। भगवान को भूलना आपके...

Dec 04, 2019, 10:47 AM IST
भागवत का एक अक्षर भी सुन ले तो जीवन का कल्याण हो जाएगा। जीवन भाग्य भागवत कथा सुनने से खुलता है। भगवान को भूलना आपके दुख का कारण है। भगवान का स्मरण ही सबसे बड़ा सुख है। यह बात वृंदावन से आए अनिरुद्ध आचार्य महाराज ने स्थानीय मधुसूदनगढ़ रोड पर स्थित सिंगीजी की बाड़ी में चौधरी परिवार द्वारा कराई जा रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के प्रथम दिवस सोमवार को कही।

उन्होंने भागवत शब्द की व्याख्या करते हुए कहा कि भागवत को श्रद्धा भाव से श्रवण करने से आपका अहंकार नहीं मिटा, तो सुनने में कुछ कमी रह गई। भागवत श्रवण से अहंकार मिटता है। सच्चे हृदय से भागवत कथा का श्रवण करें, निर्मल मन और सच्चे भाव से कथा श्रवण करें, तो निश्चित ही इसका फल मिलेगा। उन्होंने कहा कि भगवान का नाम लेना अपनी दिनचर्या में बनाए रखें। सत्संग के प्रभाव से जीवन में आनंद ही आनंद होगा।

सत्संग से जुड़े रहें तो भगवान आपके सदैव साथ रहते हैं। कथा के पूर्व नगर के श्री राम मंदिर से ढोल धमाकों, बैंड बाजों, आतिशबाजी के बीच भागवत महापुराण एवं कलश शोभायात्रा निकाली गई, जो नगर के प्रमुख मार्गो से होती हुई भागवत कथा स्थल पर पहुंची। कथा प्रतिदिन दोपहर एक बजे से 4 बजे तक आयोजित की जाएगी।

भागवत कथा के पहले दिन निकाली गई भागवत महापुराण की शोभायात्रा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना