पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसी ने परिवार तो किसी ने साथियों के साथ गुजारा दिन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नामांकन फार्म जमा कराने के बाद से गांव-गांव और घर-घर जन संपर्क और सभाओं से थके प्रत्याशियों ने 28 नवंबर को मतदान के बाद गुरुवार को राहत की सांस ली। लेकिन जिले के अधिकांश प्रमुख प्रत्याशी इस दिन भी आराम करने की जगह जरूरी काम निपटाते नजर आए।

ईश्वर को धन्यवाद कहा : राजगढ़| भाजपा प्रत्याशी अमरसिंह सुबह छह बजे उठे। उन्होंने हनुमानजी की पूजन व हवन में भाग लिया। अरसे बाद दोस्तों के साथ खाना खाया और फिर क्षेत्र में प्रतिक्रिया जानने निकल पड़े। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी बापूसिंह तंवर ने पूजापाठ कर अपने लोगों से मिल मतदान की स्थिति जानी। इसके बाद बैठक में शामिल होकर साथी प्रत्याशी गिरीश भंडारी व प्रियवृतसिंह से भी मतदान की स्थिति जानी।

पूजापाठ कर मंदिर गए : ब्यावरा से कांग्रेस प्रत्याशी गोवर्धन दांगी सुबह मंदिर गए। इसके बाद सीधे चुनाव कार्यालय पहुंचे, जहां कार्यकर्ता व समर्थकों से मुलाकात कर पोलिंग का फीडबैक लिया। दोपहर 12 बजे उनकी राघौगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री के दिग्विजयसिंह के पुत्र विधायक जयवर्धन सिंह के साथ बैठक में शामिल होने निकल गए। जबकि भाजपा प्रत्याशी विधायक नारायणसिंह पंवार सुबह पूजा की। इसके बाद कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। जहां दिनभर चुनावी समीक्षा जारी रही।

कार्यकर्ताओं से ली खैरखबर सारंगपुर| भाजपा प्रत्याशी कुंवर कोठार सुबह कार्यालय पहुंचे। उन्होंने पूरा दिन समर्थक व कार्यकर्ताओं के बीच समीक्षा में गुजारा। कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णमोहन मालवीय अपने गांव गुलावता के साथ ही मऊ, सारंगपुर में लोगों से मिलकर उनके सहयोग के लिए आभार जताया। कांग्रेस प्रत्याशी कला बाई मालवीय ने सुबह उठकर पूजा अर्चना कर भजन किए। इसके बाद घर मिलने वाले लोगों से चुनावी चर्चा की। इसके बाद भैसवामाता के दर्शन कर क्षेत्र में मिलने निकल गई।

चुनाव बाद आया सेहत का ख्याल : नरसिंहगढ़| चुनाव में व्यस्तता के चलते सेहत को ताक पर रखने वाले कांग्रेस प्रत्याशी गिरीश भंडारी ने आराम नहीं करते हुए कार्यकर्ताओं के साथ समय बिताया, इसके बाद राजगढ़ आए। वहीं भाजपा प्रत्याशी राज्यवर्धनसिंह भी सुबह से लोगों के बीच रहे। दोनों ने अपने-अपने जीत के आंकड़े तैयार भी किए हैं।

आज भी नहीं किया आराम : खिलचीपुर / जीरापुर। कांग्रेस प्रत्याशी प्रियवृतसिंह खीची ने अपनी सुबह परिवार के सदस्यों के चाय की चुस्कियों के बीच गुजारी। महल में कार्यकर्ताओं व समर्थकों से चर्चा की। दोपहर में राजगढ़ में हुई प्रशासनिक बैठक अटेंड की।

खबरें और भी हैं...