• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Rajpur
  • सूफी भजन और गीतों को सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे तीन प्रदेशों के श्रोता
--Advertisement--

सूफी भजन और गीतों को सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे तीन प्रदेशों के श्रोता

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:25 AM IST

Rajpur News - पद्मश्री गायक हंसराज हंस ने फुटतालाब में एक से बढ़कर एक सूफी गीत और भजन सुनाए। इस दौरान तीन प्रदेशों के श्रोता देर...

सूफी भजन और गीतों को सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे तीन प्रदेशों के श्रोता
पद्मश्री गायक हंसराज हंस ने फुटतालाब में एक से बढ़कर एक सूफी गीत और भजन सुनाए। इस दौरान तीन प्रदेशों के श्रोता देर रात तक पांडाल में डटे रहे।

भास्कर संवाददाता | मेघनगर

पद्मश्री गायक हंसराज हंस ने शनिवार रात फुटतालाब में प्रस्तुति दी। उन्हें सुनने के लिए राजस्थान के साथ गुजरात के शहरों के साथ झाबुआ, राणापुर, पेटलावद तथा आलीराजपुर से भी श्रोता पहुंचे। देर रात तक श्रोता उनके गीत और भजन को सुनने डटे रहे।

कार्यक्रम की शुरुआत में समाजसेवी सुरेशचंद्र पूरणमल जैन, रिंकू जैन, जैकी जैन ने रामदासजी त्यागी के नेतृत्व में उनका स्वागत किया। गायक के मंच पर आते ही पूरा पंडाल तालियों से गूंज उठा। उन्होंने पप्पू भैया और परिवार के साथ श्री वनेश्वर हनुमानजी के चित्र की पूजा कर कार्यक्रम की शुरुआत की।

श्री गणेश वंदना के साथ हंसराज हंस ने शुभारंभ किया। श्रीराम और श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमानजी के चरणों में हनुमानजी की स्तुतियां अर्पित की। माताजी, भूतभावन भोलेनाथजी, श्रीकृष्ण के भक्तिमय भजन सुनाकर उन्होंने इस चर्चित आयोजन को शिखर प्रदान किए। गायक हंस ने जब ‘ये जो सिली सिली आंदि है हवा, उते कोई रोंदा होवेगा’ गाया तो श्रोताओं ने ताली बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कई सूफी भजनों और गीतों के साथ दमादम मस्त कलंदर, आओ महाराज, इश्क दी गली वीच कोई-कोई लंगदा जैसे कई गीत गाए। आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में एसपी महेशचंद जैन, झाबुआ नपा अध्यक्ष मन्नू डोडियार, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और प्रदेश भाजपा कार्यसमिति के वर्तमान सदस्य शैलेष दुबे, झाबुआ के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष धनसिंह बारिया, झाबुआ मंडल अध्यक्ष बबलू सकलेचा, इरशाद कुरैशी, पप्पू भैया मित्र मंडल के वरिष्ठ सदस्य हरिराम गिरधाणी, दिनेश बैरागी, देवेंद्र जैन, मेघनगर विपणन संस्था के अध्यक्ष संजय श्रीवास, गणेश प्रजापत आदि ने अभिनंदन किया।

X
सूफी भजन और गीतों को सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे तीन प्रदेशों के श्रोता
Astrology

Recommended

Click to listen..