• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • 15 to 50 thousand rupees are asking for the plot according to the plot at Pashupatinath fair

कालाबाजारी / पशुपतिनाथ मेले में प्लाॅट के हिसाब से बिचाैलिये मांग रहे 15 से लेकर 50 हजार रुपए



15 to 50 thousand rupees are asking for the plot according to the plot at Pashupatinath fair
X
15 to 50 thousand rupees are asking for the plot according to the plot at Pashupatinath fair

  • बाहर से आए व्यापारियों में आक्रोश, बोले- कार्तिक नहीं दुकानों की दलाली का है यह मेला
  • जिनको दुकान नहीं मिली उनके साथ खुलेआम हो रही है खरीद-फरोख्त
     

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 11:57 AM IST

मंदसौर. पशुपतिनाथ कार्तिक मेले में भूखंड की कालाबाजारी रोकने के लिए कांग्रेस नपाध्यक्ष व समिति प्रमुख दावे कर रहे हैं। हकीकत में मेला परिसर में बिचाैलिये सक्रिय हो गए हैं। एक भूखंड की कीमत जगह के हिसाब से 15 से 50 हजार रुपए तक लग रही है। इससे बाहर से आने वाले व्यापारियों में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि यह कार्तिक मेला नहीं भूखंड की दलाली का मेला बन गया है। इधर, मेला शुभारंभ के बाद अब झूले व दुकानों का काम शुरू हुआ जिससे अभी पांच दिन मेला तैयार होने मंे लगेंगे। जिससे मेला व्यवसायियों को नुकसान होने की संभावना है।

 

44 साल बाद कांग्रेस नपाध्यक्ष की अध्यक्षता में पशुपतिनाथ कार्तिक मेले लग रहा है। ऐसे में जिम्मेदार शुरू से हर साल मेले में भूखंड को लेकर होने वाली कालाबाजारी पर रोक के दावे कर रहे हैं। इसके लिए नपाध्यक्ष व समिति ने भूखंड में उनकी 10 फीसदी आरक्षण को भी खत्म कर उनकी लॉटरी के माध्यम से आवंटन किया। इसके बाद भी मेला परिसर में कालाबाजारी पर रोक नहीं लग पाई है। 

 

शनिवार से मेला परिसर में बिचाैलिये सक्रिय हो गए। दिनभर प्लाॅटों की खरीद-फरोख्त का काम चलता रहा। भास्कर टीम मेला परिसर पहुंची तो यहां दो बिचाैलिये व्यापारियों से प्लाॅट की कीमत तय करते दिखाई दिए। वे जगह के अनुसार 15 से 50 हजार रुपए तक की मांग कर रहे हैं। व्यापारी जीवनलाल राठौर का बिचाैलिये राजू व सोहन से लेन-देन तय होने के बाद राशि देते समय उनकी नजर कैमरे पर पड़ी तो सभी इधर-उधर हो गए। कुछ समय बाद वापस व्यापारी ने बिचाैलिये से संपर्क किया। इसके पहले टीम ने व्यापारी जीवन से चर्चा की तो उसने बताया कि मेरा तो प्लाॅट ही नहीं खुला। कुछ घंटे बाद उससे वापस चर्चा की तो जीवन ने बताया प्लाॅट खुल गया, वो तो पिछले साल का कुछ बकाया था तो समस्या आ रही थी। राशि देने के बाद प्लाॅट मिल गया। मामले में बिचाैलियों से भी बात करने का प्रयास किया लेकिन वे बिना कुछ कहे चले गए।

 

दो दिन तक प्लाॅटों की सौदेबाजी चलती है
जावद निवासी राजेश माथुर ने बताया कि पांच दुकानों के लिए आवेदन दिया लेकिन एक भी नहीं मिली। कार्तिक मेला नहीं दुकानों की दलाली का मेला हो गया है। खिलौना दुकान लगाने वाले रतनगढ़ से आए ईश्वरलाल ने बताया गोटी खुलने के बाद दो दिनों तक प्लाॅटों की सौदेबाजी चलती है।

 

 

दुकानें लगने के बाद जांच होगी। सख्ती से कार्रवाई करेंगे। व्यापारी चाहंे तो दलालों की जानकारी मेला समिति प्रमुख को दे सकते हैं, उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। मेले में देरी होने पर मेले को कुछ दिन आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

संगीता गोस्वामी, पशुपतिनाथ मेला समिति प्रमुख, मंदसौर

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना