--Advertisement--

मध्यप्रदेश चुनाव / जावद में 22976, मनासा में 25256, नीमच में 27688 वोट पर बचेगी जमानत



22976 in Javad, 25256 in Manasa, 27688 votes needed in Neemuch
X
22976 in Javad, 25256 in Manasa, 27688 votes needed in Neemuch

  • 82 फीसदी रिकॉर्ड मतदान ने प्रत्याशियों की चिंता बढ़ाई
  • तीनों विस से 23 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद है

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 11:23 AM IST

नीमच. विधानसभा चुनाव में 82 फीसदी रिकॉर्ड मतदान ने अधिकृत प्रत्याशियों की चिंता बढ़ा दी है। इस बार राजनीतिक दलों व निर्दलीय प्रत्याशियों को जमानत बचाने के लिए कुल मतदान के छठवें हिस्से से ज्यादा वोट लाना जरूरी होगा।

 

जावद में 22976 मत, मनासा में 25256 मत और नीमच में 27688 मत जिन्हें प्राप्त होंगे उनकी जमानत बच जाएगी। तीनों विधानसभा के मतों की गणना 11 दिसंबर को सुबह 8 बजे से पीजी कॉलेज में शुरू होगी। इस बार तीनों विस से 23 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद है।

 

निर्वाचन आयोग के निर्देशों के तहत किसी भी सीट पर हुए कुल मतदान के छठवें भाग से ज्यादा मत लाने पर ही उम्मीदवार की जमानत बच सकती है। जमानत से आशय नामांकन फाॅर्म दाखिल करते समय जमा कराई राशि से होता है। नीमच विधानसभा में 2 लाख 10 हजार 28 मतदाताओं में से 1 लाख 66 हजार 127 ने वोट डाले जो 79.10 फीसदी रहा।

 

मनासा विस क्षेत्र पर 1 लाख 80 हजार 791 मतदाताओं में से 1 लाख 51 हजार 534 ने वोट डाले यहां 84.11 फीसदी मतदान हुआ था।जावद विस क्षेत्र में 1 लाख 65 हजार 514 में से 1 लाख 37 हजार 851 ने वोट डाले यहां 83.45 फीसदी मतदान हुआ। इस तरह जिले में 82.02 फीसदी मतदान हुआ था जो अब तक में सबसे ज्यादा रहा है।

 

साल 2013 में 78.22, 2008 में 76.89 और 2003 में 76.66 फीसदी मतदान हुआ था। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. राजेश पाटीदार के मुताबिक जमानत बचाने के लिए विधानसभा में कुल गिरे मतों का छठवें हिस्से से ज्यादा मत प्राप्त करना जरूरी है।


पिछले चुनाव में 2 निर्दलीयों की जमानत बच पाई थी, जावद में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी की जब्त हुई थी। साल 2013 के चुनाव में जिले में चौंकाने वाले नतीजे रहे थे। मनासा से भाजपा के बागी माधव मारू ने 32 हजार मत लाकर जमानत बचा ली थी। हालांकि इससे पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी कैलाश चावला को ज्यादा फर्क नहीं पड़ा था और वे 14028 मतों से जीत गए थे।

 

वहीं जावद विस सीट पर कांग्रेस के बागी राजकुमार अहीर 42 हजार मत लाकर जमानत बचाते हुए दूसरे नंबर पर रहे थे। यहां कांग्रेस प्रत्याशी रघुराजसिंह चौरडिय़ा की जमानत जब्त हो गई थी। इस बार के चुनाव में नीमच और मनासा में कोई सशक्त निर्दलीय नहीं है, हालांकि जावद सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला होने से सबकी निगाहें परिणाम पर जरूर है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..