Hindi News »Madhya Pradesh »Ratlam» व्यक्ति की नहीं, उसके गुणों की पूजा होती है - वज्ररत्नसागरजी

व्यक्ति की नहीं, उसके गुणों की पूजा होती है - वज्ररत्नसागरजी

जीवन में व्यक्ति की नहीं व्यक्तित्व की पूजा होती है। चरण उनके ही पूजा जाते हैं, जिनके आचरण पूजने योग्य होते हैं।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:00 AM IST

जीवन में व्यक्ति की नहीं व्यक्तित्व की पूजा होती है। चरण उनके ही पूजा जाते हैं, जिनके आचरण पूजने योग्य होते हैं। संसार को स्वर्ण बनाने की क्षमता इंसान में होती है।

यह बात नागेश्वर तीर्थ पेढ़ी में मुनिश्री वज्रर|सागरजी ने कही। नागेश्वर तीर्थ पेढ़ी सचिव दीपचंद जैन को विकास पुरुष की उपाधि से नाकोड़ा तीर्थ पेढ़ी अध्यक्ष अमृतलाल छाजेड़, नवदिवसीय चैत्र ओली आराधक विवेक नागर, मीठाभाई चौहान, नेमीचंद भजराज संघवी व सैकड़ों समाजजन ने नवाजा। तीर्थ पेढ़ी की ओर से ओलीजी आराधक परिवारों का बहुमान सहसचिव धरमचंद जैन, ट्रस्टी नथमल पितलिया, विजयप्रकाश धींग ने किया। नागेश्वर तीर्थ में नौ दिन तक रोज सामूहिक प्रार्थना, भक्तामर पाठ, प्रवचन, पूजा, महापूजा, प्रतिक्रमण व भक्ति संध्या हुई। चैत्र पूर्णिमा पर 108 जोड़ों ने नाकोड़ा पार्श्व भैरव महापूजन का आयोजन किया। तपस्वियों को सजोड़े वस्त्र, नाकोड़ा भैरव की अष्टधातु की प्रतिमा भेंट की।

तपस्वियों का बहुमान

रविवार को ओलीजी तप आराधना करने वाले तपस्वी का सुबह बहुमान समारोह रखा गया। पेढ़ी पदाधिकारियों ने तपस्वियों को धार्मिक उपकरण की कीट, बहुमान कीट व सामूहिक टीप द्वारा एकत्रित की गई प्रभावना भेंट की।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratlam

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×