Hindi News »Madhya Pradesh »Ratlam» सीतामऊ रेलवे फाटक ओवरब्रिज से मई में शुरू हो जाएगा मंदसाैर-रतलाम का ट्रैफिक

सीतामऊ रेलवे फाटक ओवरब्रिज से मई में शुरू हो जाएगा मंदसाैर-रतलाम का ट्रैफिक

तीन साल से बन रहे सीतामऊ फाटक ओवरब्रिज का काम अंतिम चरण में पहुंच गया है। सेतु विकास निगम ने मंदसौर से रतलाम वाले...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:55 AM IST

तीन साल से बन रहे सीतामऊ फाटक ओवरब्रिज का काम अंतिम चरण में पहुंच गया है। सेतु विकास निगम ने मंदसौर से रतलाम वाले मार्ग पर काम पूरा कर लिया है। अधिकारियों के अनुसार जून अंत तक ओवरब्रिज पूरा बन जाएगा। इधर, रेलवे ने अपनी सीमा में कराए जाने वाले कार्य के लिए टेंडर लगाए हैं। अप्रैल अंत में टेंडर प्रक्रिया के साथ काम शुरू हो जाएगा। ऐसे में अक्टूबर तक शहर को ओवरब्रिज की सौगात मिलने की उम्मीद है।

मप्र सेतु विकास निगम ने 38 करोड़ की लागत से नवंबर 2015 में “टी” आकार के सीतामऊ फाटक आेवरब्रिज का काम शुरू किया था। सीतामऊ रोड का डायवर्शन व रतलाम मार्ग के यातायात को डायवर्ट करने के बाद ब्रिज का काम तेजी से किया जा रहा है। मंदसौर-रतलाम मार्ग पर 700 मीटर लंबा ब्रिज बनना है जो लगभग पूर्णता की ओर है। सेतु विकास निगम के एसडीओ आर.के. कटारिया के अनुसार अप्रैल अंत व मई के प्रथम सप्ताह तक मंदसौर से रतलाम वाले हिस्से को पूरा कर लिया जाएगा। काम पूरा होते ही इधर से बंद किए यातायात को भी शुरू कर दिया जाएगा। इससे अभी लोगों को हो रही परेशानियों से छुटकारा मिलेगा व सीतामऊ फाटक क्षेत्र के व्यवसायियों को थोड़ी राहत मिलेगी। इसके बाद सीतामऊ रोड की तरफ वाले ब्रिज को पूरा करने पर जोर दिया जाएगा। रेलवे फाटक से पहले व बाद में दोनों तरफ पिलर डालने का काम पूरा कर लिया है। स्लैब ही डालना बाकी है। निगम के अधिकारियों के अनुसार जून अंत तक सीतामऊ तरफ करीब 500 मीटर ब्रिज का काम पूरा हाे जाएगा।

एक तरफ से पुल तैयार हैं

इस तरह तेजी से चल रहा सीतामऊ फाटक ओवरब्रिज का काम।

80 हजार से अधिक लोगों को होगा लाभ

रेलवे द्वारा ब्रिज निर्माण से पहले कराए सर्वे के अनुसार रोज सीतामऊ फाटक से 2500 वाहनों में 80 हजार से अधिक लोग गुजरते हैं। इसमें दोपहिया वाहन शामिल नहीं हैं। ओवरब्रिज निर्माण से अभी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मंदसौर-रतलाम आने व जाने वाले लोगों को पशुपतिनाथ, यशनगर व अन्य मार्गों से आना-जाना पड़ रहा है। क्षेत्रवासियों सहित हजारों लोग ओवरब्रिज के पूरा होने की राह तक रहे हैं।

एक नजर

1200

मीटर ब्रिज की लंबाई

10

मीटर रेलवे पटरी से ऊंचाई

12

मीटर ब्रिज की चौड़ाई

38

करोड़ लागत

ठेकेदार दिनेशचंद्र आर. अग्रवाल कंपनी

रेल प्रशासन ने शुरू टेंडर की प्रक्रिया

सीतामऊ रेलवे फाटक पर बन रहे दोनों तरफ करीब 60 मीटर सीमा में ओवरब्रिज का निर्माण रेलवे को करना है। इसके लिए रेलवे अधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। हालांकि रेलवे द्वारा टेंडर प्रक्रिया में देरी किए जाने से ब्रिज का लाभ मिलने में जनता को समय लगेगा। रेलवे के अधिकारी अक्टूबर अंत तक काम पूरा करने का दावा कर रहे हैं। रतलाम रेल मंडल के उपमुख्य अभियंता अजय प्रधान ने बताया कि ब्रिज की डिजाइन व जीएडी स्वीकृत है। अप्रैल अंत तक टेंडर आेपन कर काम शुरू करा दिया जाएगा। इसमें समय सीमा छह माह की रखी है। इससे पहले काम पूरा हो जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratlam

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×