• Home
  • Mp
  • Ratlam
  • परीक्षा में नकल के डर से बच्चों से खुलवा लिए जूते और चप्पल
--Advertisement--

परीक्षा में नकल के डर से बच्चों से खुलवा लिए जूते और चप्पल

12वीं बोर्ड की परीक्षा गुरुवार से हुई। पहले दिन हिंदी का पेपर हुआ। 69 केंद्रों में एक साथ शुरू हुई परीक्षा में 11,065...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:10 AM IST
12वीं बोर्ड की परीक्षा गुरुवार से हुई। पहले दिन हिंदी का पेपर हुआ। 69 केंद्रों में एक साथ शुरू हुई परीक्षा में 11,065 स्टूडेंट को शामिल होना था लेकिन 575 गैर हाजिर रहे और 10,490 स्टूडेंट शामिल हुए। सोमवार से दसवीं की परीक्षा शुरू होगी।

माणकचौक स्थित हायर सेकंडरी स्कूल में परीक्षार्थियों को जूते, चप्पल खुलवाकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया। इससे पूरे समय परीक्षार्थियों ने नंगे पैर बैठकर परीक्षा दी। 12वीं की परीक्षा दो पाली में हुई। दूसरी पाली में मूक बधिर का पर्चा था। श्री मातृ विद्या मंदिर में एक परीक्षार्थी शामिल होना था लेकिन वो भी गैर हाजिर रहा।

तहसीलदार और डीईओ ने किया निरीक्षण

बाजना तहसीलदार संतोष र|ावत ने बालक बाजना और हायर सेकंडरी स्कूल कुंदनपुर का निरीक्षण किया। वहीं प्रभारी डीईओ अमर वरधानी ने रावटी कन्या हायर सेकंडरी और बालक हायर सेकंडरी स्कूल का निरीक्षण किया। डीपीसी आर.के. त्रिपाठी शहर के स्कूलों में पहुंचे उन्होंने गुरु तेग बहादुर हायर सेकंडरी स्कूल, गुजराती स्कूल और सरस्वती शिशु मंदिर का निरीक्षण किया। प्रभारी डीईओ ने बताया परीक्षा के दौरान तलाशी लेना है। नकल में चिट लेकर ना आए, इससे केंद्राध्यक्ष चाहे तो जूते, चप्पल खुलवा सकते हैं।