• Home
  • Mp
  • Ratlam
  • आधुनिक कारखाने में बदल रहे दाहोद वर्कशाप के बेहतर प्रबंधन पर महाप्रबंधक ने दिया 2.35 लाख रुपए का इनाम
--Advertisement--

आधुनिक कारखाने में बदल रहे दाहोद वर्कशाप के बेहतर प्रबंधन पर महाप्रबंधक ने दिया 2.35 लाख रुपए का इनाम

आधुनिक कारखाने में बदल रहे दाहोद रेल कारखाना को शनिवार को एक और इनाम मिला। शनिवार को पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:30 AM IST
आधुनिक कारखाने में बदल रहे दाहोद रेल कारखाना को शनिवार को एक और इनाम मिला। शनिवार को पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक एके गुप्ता ने दाहोद वर्कशाप का सालाना निरीक्षण किया। तीन घंटे के इंस्पेक्शन में महाप्रबंधक ने वर्कशाप के प्रत्येक में विभाग की व्यवस्था, प्रबंधन, रखरखाव और सेफ्टी व्यवस्था की स्थिति का जायजा लिया। इतना ही नहीं रिकॉर्ड देखने के साथ संबंधित विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों से बात की। इंतजामों से संतुष्ट होने पर महाप्रबंधक ने दाहोद वर्कशाप को 2.35 लाख रुपए का अवार्ड दिया है। वडोदरा से सड़क मार्ग से आकर महाप्रबंधक सीधे रेल कारखाना पहुंचे। डीआरएम आरएन सुनकर, एडीआरएम केके सिन्हा सहित अन्य अधिकारी पहले ही पहुंच चुके हैं। आगवानी के बाद महाप्रबंधक ने कारखाना अधिकारियों से कुछ देर बात की उसके बाद निरीक्षण शुरू कर दिया। शाम को वापस सड़क मार्ग से वडोदरा रवाना हो गए। इसके पहले सांसद जसवंतसिंह भाभोर ने महाप्रबंधक से क्षेत्रीय मांगों पर चर्चा की। इसके अलावा वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ के मंडल मंत्री बीके गर्ग, वर्कशाप शाखा सचिव देवेंद्र हाड़ा सहित अन्य ने महाप्रबंधक से मिलकर सात सूत्रीय मांगों पर चर्चा की।

पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक एके गुप्ता तीन घंटे रहे वर्कशाप में, दाहोद स्टेशन का भी लिया जायजा

दाहोद स्टेशन का निरीक्षण करते महाप्रबंधक गुप्ता।

सैलून जुड़ने से पहले देहरादून के इंजन में आई गड़बड़ी

महाप्रबंधक के निरीक्षण के बाद डीआरएम देहरादून एक्सप्रेस से गोधरा तक जाने वाले थे। बताया जा रहा है कि उनका इरादा ट्रैक निरीक्षण का था लेकिन रतलाम से चलकर जैसे ही देहरादून एक्सप्रेस गोधरा पहुंची उसके इंजन में तकनीकी खराबी आ गई। तुरंत रेलवे कंट्रोल को सूचना दी, तकनीकी स्टॉफ ने जाकर चैक किया तो पता कि इंजन के नीचे के एक उपकरण में क्रेक आ गया था। सावधानी बरतते हुए इंजन को काटकर अलग कर दिया। साथ ही वहां से गुजर रही मालगाड़ी को रोककर उसका इंजन देहरादून में जोड़ा। इसके बाद करीब डेढ़ घंटे की देरी से देहरादून एक्सप्रेस आगे रवाना हो पाई। जानकारी के अनुसार डीआरएम गोधरा जाकर, वहां से डीलक्स एक्सप्रेस से रात को रतलाम पहुंचे। उनके साथ एडीआरएम व अन्य अधिकारी भी थे।