• Home
  • Mp
  • Ratlam
  • परफैक्ट पाॅटरी फैक्टरी की लीज खत्म करने के लिए प्रस्ताव तैयार करवा रहा है प्रशासन
--Advertisement--

परफैक्ट पाॅटरी फैक्टरी की लीज खत्म करने के लिए प्रस्ताव तैयार करवा रहा है प्रशासन

औद्योगिक क्षेत्र में परफैक्ट पॉटरी कंपनी रतलाम को पॉटरी (चीनी मिट्टी के आयटम) बनाने के लिए 5.35 हेक्टेयर जमीन लीज पर...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 06:20 AM IST
औद्योगिक क्षेत्र में परफैक्ट पॉटरी कंपनी रतलाम को पॉटरी (चीनी मिट्टी के आयटम) बनाने के लिए 5.35 हेक्टेयर जमीन लीज पर दी थी। जिला प्रशासन ने इसकी जांच करवाई तो सामने आया कि इस जमीन पर उद्योग चलाने के बजाय गोडाउन बनाकर किराये पर दे दिया है। इसलिए इसकी लीज खत्म करने का प्रस्ताव तैयार करवाया जा रहा है।

एडीएम डॉ. कैलाश बुंदेला ने बताया परफैक्ट पॉटरी कंपनी रतलाम को औद्योगिक क्षेत्र में सर्वे नंबर 20 की 5.35 हैक्टेयर जमीन 1962 में लीज पर दी थी। इस पॉटरी उद्योग चलाने के बजाय गोडाउन बनाकर संचालक ने इप्का फैक्टरी और दोना-पत्तल बनाने वालों को किराए पर दे दिए। उद्योग के लिए दी जमीन का दूसरा उपयोग करने पर लीज निरस्त का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। एडीएम ने बताया संचालक द्वारा बताया जा रहा है कि फैक्टरी चल रही है। हमारे निरीक्षण में साफ हो गया कि जमीन का दूसरा उपयोग किया जा रहा है। श्रम कार्यालय से श्रमिकों की जानकारी, भविष्य निधि कार्यालय से श्रमिकों के पीएफ, आयकर विभाग से टैक्स भरने, विद्युत मंडल से बिजली भरने की जानकारी ली जा रही है। जिससे साफ हो जाएगा कि फैक्टरी चल रही है कि नहीं। इस आधार पर लीज निरस्त की जाएगी। मामले में फैक्टरी मैनेजर सुरेंद्र दुबे को 9691252100 काॅल किया लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया।

मई में तहसीलदार ने बनाया था पंचनामा

जनसुनवाई में औद्योगिक क्षेत्र स्थित परफैक्ट पॉटरी फैक्टरी की शिकायत मिलने पर तहसीलदार अजय हिंगे ने पंचनामा बनाया था। फैक्टरी के बाहर पानी पताशे की दुकान लगाने वाले दिलीप कुशवाह ने जनसुनवाई में शिकायत की थी कि फैक्टरी बंद है और इसे किराए पर दे रखा है। फैक्टरी मैनेजर सुरेंद्र दुबे ने कुशवाह की शिकायत की थी कि उसने फैक्टरी की जमीन पर अतिक्रमण कर रखा है। तहसीलदार ने इसमें पाया था कि परफैक्ट पॉटरी फैक्टरी चीनी मिल लगभग बंद हो गई है।

41 हजार वर्ग फीट जगह इप्का को किराए पर दे रखी है

पंचनामे में तहसीलदार ने पाया था कि इप्का फैक्टरी को 41 हजार वर्ग फीट जगह गोदाम के लिए 1 लाख 65 हजार रुपए में किराये पर दे रखी है। फैक्टरी की ही जमीन पर टॉवर वाले को 9000 रुपए महीने में पत्तल-दोने बनाने वाले को 6 हजार रुपए महीने में किराये पर दे रखी है। इसके एक हिस्से में चीनी मिट्टी की ईंट बनाने की फैक्टरी चल रही है। फैक्टरी मुकुंददास माहेश्वरी की है और वे काफी समय से जबलपुर में ही रहते हैं।