• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • घर के बाहर खेल रही मासूम को वैन ने टक्कर मारी, बिना इलाज के दो अस्पतालों ने लौटाया
--Advertisement--

घर के बाहर खेल रही मासूम को वैन ने टक्कर मारी, बिना इलाज के दो अस्पतालों ने लौटाया

भास्कर न्यूज. ग्वालियर| गोला का मंदिर क्षेत्र की शिव कॉलोनी में ढाई साल की बच्ची को स्कूल वैन ने टक्कर मार दी। घायल...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 05:55 AM IST
घर के बाहर खेल रही मासूम को वैन ने टक्कर मारी, बिना इलाज के दो अस्पतालों ने लौटाया
भास्कर न्यूज. ग्वालियर| गोला का मंदिर क्षेत्र की शिव कॉलोनी में ढाई साल की बच्ची को स्कूल वैन ने टक्कर मार दी। घायल बच्ची को लेकर उसके पिता 1 घंटे तक अस्पतालों के चक्कर काटते रहे। लेकिन समय पर इलाज न मिलने के कारण बच्ची की मौत हो गई। उधर कमलाराजा अस्पताल के बाहर वैन ड्राइवर बच्ची व पिता को उतारकर निकल गया। हादसा शनिवार सुबह लगभग 8 बजे हुआ। बाद में पुलिस ने ड्राइवर को गिरफ्तार कर वैन को जब्त कर लिया। पिंटो पार्क की शिव कॉलोनी में रहने वाले रामखिलाड़ी राठौर की ढाई साल की बेटी अनुष्का सुबह 8 बजे घर के बाहर खेल रही थी। गली से गुजरते वक्त द सिल्वर हिल्स स्कूल की वैन एमपी 07 बीए 4280 ने अनुष्का को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि बच्ची उछलकर सड़क पर जा गिरी। उसके सिर में अंदरूनी चोट आई। कॉलोनी के लोगों ने वैन को घेर लिया और वैन में ही बैठकर अनुष्का को लेकर उसके पिता रामखिलाड़ी व स्थानीय लोग अस्पताल के लिए रवाना हुए। रामखिलाड़ी के अनुसार हम अनुष्का को पहले बिड़ला अस्पताल ले गए, यहां हमें दूसरे अस्पताल में ले जाने की सलाह दी गई। इसके बाद गांधी रोड स्थित निजी नर्सिंग होम में ले गए, लेकिन यहां भी हमसे केआरएच ले जाने के लिए कहा गया। केआरएच के बाहर वैन का ड्राइवर हमें उतारकर गायब हो गया। मैं अनुष्का को अंदर ले गया, यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अनुष्का

पिता के कंधे पर ढाई साल की बेटी ने तोड़ा दम, मां चेहरा भी नहीं देख पाई

बेटी की मौत से मां बेसुध, 1 माह पहले हीे बेटे के जन्म की खुशी मनाई थी

रामखिलाड़ी के घर में सुबह के हादसे से पहले खुशियां थीं। 28 फरवरी को उनकी प|ी ने बेटे काे जन्म दिया था। हादसे के बाद पिता रामखिलाड़ी बेटी को बचाने की कोशिश में अस्पतालों के चक्कर लगा रहे थे और मां भगवान से बेटी के ठीक हाेकर घर लौटने की दुआ कर रही थी लेकिन 9.15 बजे बेटी की मौत की खबर आ गई। यह खबर सुनते ही मां रूबी बेसुध हो गई। पोस्टमार्टम के बाद जब पिता रामखिलाड़ी तथा अन्य परिजन बच्ची को लेकर घर आए तो रूबी की हालत को देखते हुए उसे बच्ची के शव के पास भी नहीं लाया गया।

X
घर के बाहर खेल रही मासूम को वैन ने टक्कर मारी, बिना इलाज के दो अस्पतालों ने लौटाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..