• Home
  • Mp
  • Ratlam
  • इलाज के लिए डेढ़ माह तक रखा बंद, बदबू आने पर पता चला वह मर चुकी है
--Advertisement--

इलाज के लिए डेढ़ माह तक रखा बंद, बदबू आने पर पता चला वह मर चुकी है

गंगापुर सिटी | राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले के गंगापुरसिटी कस्बे में तंत्र क्रिया के चलते एक युवती की मौत का...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:35 AM IST
गंगापुर सिटी | राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले के गंगापुरसिटी कस्बे में तंत्र क्रिया के चलते एक युवती की मौत का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मृतका के भाई की सूचना पर मंगलवार देर रात पुलिस ने आरोपी तांत्रिकों को हिरासत में लिया। एक तांत्रिक भाग निकला। जानकारी के मुताबिक ताराचंद राजपूत, प|ी उर्मिला, बेटी अनीता व मोहनी के साथ रहते हैं। घर में तांत्रिक गतिविधयों से नाराज तीन पुत्र अलग रहने लगे थे। ताराचंद के पुत्र श्यामसिंह ने बताया बहन अनीता (35) की तबीयत खराब रहती थी। करीब 12 साल पहले माता-पिता ने तांत्रिकों से संपर्क साधा, तभी से तांत्रिक उसका इलाज कर रहे थे। तांत्रिक अनीता पर भूत-प्रेत का साया बताते रहे। कुछ साल बाद तांत्रिकों ने कहा अनीता अब ठीक हो गई है। 14 जनवरी को अनीता की तबीयत फिर बिगड़ी तो तांत्रिकों ने इलाज शुरू किया। उन्होंने माता-पिता को डराते हुए कहा अस्पताल ले जाने पर अनीता मर जाएगी। इसके बाद तांत्रिकों ने कहा अनीता के शरीर में अब देवी का प्रवेश हो गया है। तांत्रिकों ने एक कमरे में मंदिर बनवाया, वहां अनीता को बैठाकर अन्य लोगों का इलाज करने लगे। जिस कमरे में अनीता रहती थी, उसमें तांत्रिकों के अलावा किसी के भी प्रवेश पर पाबंदी थी। घरवालों को भी नजरबंद कर रखा था। करीब डेढ माह से एक ही घर में रहते हुए मोहनी अपनी बहन को नहीं देख पा रही थी। कुछ दिनों से मोहनी को दुर्गंध आने पर उसे शंका हुई। मंगलवार शाम मौका पाकर मोहनी बाहर निकली और भाई श्यामसिंह को सारा घटनाक्रम बताया, फिर दोनों पुलिस को लेकर पहुंचे और कमरे में घुसे तो अनीता की निर्वस्त्र लाश पड़ी दिखी।