अपराध / आदिवासी युवकों की पिटाई की पूर्व सीएम ने की निंदा, न्यायिक जांच की मांग की

alirajpur news cm raises concern over tribal man beaten and forced to drink urine
X
alirajpur news cm raises concern over tribal man beaten and forced to drink urine

  • विश्व आदिवासी दिवस के दिन ग्रामीण युवकों को पुलिस ने बेरहमी से पीटा था
  • एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी सहित तीन आरक्षकों को सस्पेंड किया
  • पुलिस की सफाई युवकों ने ड्यूटी कर रहे आरक्षक की वर्दी फाड़ी, मारपीट भी की

दैनिक भास्कर

Aug 12, 2019, 03:02 PM IST

आलीराजपुर. मप्र के आलीराजपुर जिले के नानपुर पुलिस थाने में नाबालिग सहित पांच युवकों के साथ थाना प्रभारी व स्टाफ द्वारा थाने में बर्बरता करने की पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़ी निंदा की है। चौहान ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मामले में न्यायिक जांच की मांग है। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए सस्पेंड करने की बजाय दोषियों की सेवा समाप्त करने की मांग भी की। कांग्रेस जिलाध्यक्ष महेश पटेल का आरोप है कि ग्रामीणों को पीटा। मामले में एसपी विपुल श्रीवास्तव ने थाना प्रभारी दिनेश चोंगड आरक्षक राहुल, विजय चौहान और मनोहर जाटव काे सस्पेंड कर दिया।

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अलीराजपुर में आदिवासी युवकों के साथ पुलिस द्वारा की गई बर्बरता की निंदा करते हुए कहा कि मानवीय संवेदना समाप्त हो गई है। यथा राज तथा पुलिस।  उन्हाेंने कहा कि मुझे जानकारी मिली कि अलीराजपुर में आदिवासी युवाओं को पुलिस ने नशे में न सिर्फ पीटा बल्कि उनके साथ बर्बरता भी की। इसकी जितनी निंदा की जाए कम है। ये सरकार एक तरफ आदिवासियों के हित की बात करती है, वहीं दूसरी ओर आदिवासी नौजवानों को पकड़कर पीटा जाता है।

 

नानपुर में पिटाई में घायल युवकों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

 

क्या है मामला 
एसपी को सौंपे गए आवेदन में आवेदक कैलाश पिता वेस्ता निवासी खारकुआं ने बताया कि मेरे पुत्र सहित पांच युवकों को नानपुर पुलिस द्वारा शुक्रवार को गिरफ्तार कर नानपुर पुलिस थाने में लाया गया था। उनके साथ रात 12 बजे से नानपुर थाना प्रभारी दिनेश चौंगड़, आरक्षक विजय, राहुल, मनोहर व एक अन्य ने रातभर लट्ठ, सरिए, बेल्ट आदि से अत्यधिक मारपीट की। जिससे उन्हें चलते भी नहीं बन रहा है और वे आलीराजपुर अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने बताया सभी आरोपी पुलिसकर्मी शराब के नशे में थे और बारी-बारी से बच्चों के साथ मारपीट करते रहे।

 

पुलिस की सफाई- युवकों ने पीटा, वर्दी फाड़ी

नानपुर थाना प्रभारी दिनेश चौंगड़ द्वारा शुक्रवार शाम दर्ज करवाई गई रिपोर्ट में बताया गया कि विश्व आदिवासी दिवस पर जोबट में ड्यूटी लगी थी। इसके बाद फाटा डेम के गेट खुलने पर शाम 6 से 7 बजे के बीच हथनी नदी पर व्यवस्था बनाने के लिए सिविल ड्रेस में प्रधान आरक्षक भेरूसिंह के साथ पहुंचा था और प्रधान आरक्षक सुरेंद्रसिंह, राहुल, मनोहर को भी बुलाया और पुलिया के दोनों तरफ यातायात व्यवस्था लगाई। कुछ युवक वहां आपस में विवाद कर रहे थे। मैं समझाइश देने गया। इस दौरान आरोपी आदित्य पिता कैलाश चौहान, राहुल पिता भेरूसिंह, नीतेश पिता राजू, विकास पिता कैलाश और यशवंत पिता बलवंत ने मेरे साथ लात-घूसों से मारपीट कर चोट पहुंचाई। आरक्षक राहुल, मनोहर से मारपीट की और वर्दी फाड़ दी। प्रधान आरक्षक भेरूसिंह व सुरेंद्र भी आ गए तो पांच युवक भाग गए। आरोपी युवक संदीप चंदरसिंह चौहान से मारपीट कर रहे थे। 

 

5 निलंबित, एसडीओपी करेंगे मामले की जांच

एसपी विपुल श्रीवास्तव ने नानपुर थाना प्रभारी उप निरीक्षक दिनेश चौंगड़, आरक्षक राहुल, विजय चौहान और मनोहर जाटव को निलंबित कर दिया है। निलंबन के दौरान इनका मुख्यालय रक्षित केंद्र आलीराजपुर रहेगा। उन्होंने बताया कि इनके खिलाफ विभागीय जांच जाेबट एसडीओपी आरसी भाकर को सौंपी गई। एक महीने में जांच पूर्ण कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना