तलाश रहे कारण / एसएनसीयू में बच्चों की मौत ,53 में से 36 नवजात ऐसे थे जो रेफर होकर रतलाम आए

  • धार, मंदसौर, बांसवाड़ा जिले से रेफर होकर रतलाम आते हैं बच्चे

दैनिक भास्कर

Jan 10, 2020, 11:51 AM IST

रतलाम.रतलाम के एसएनसीयू में दूसरे जिलों से रेफर होकर आने वाले बच्चों की संख्यार बढ़ रही हैं। प्रकरणों की जांच में यह बात सामने आई है कि 1 दिसंबर से अब तक 53 नवजात की मौत हुई, इनमें से 36 रेफर होकर रतलाम आए। रेफर में देरी सहित अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है।


एमसीएच के एसएनसीयू में 40 दिन (26 नवंबर से 6 जनवरी के बीच) 61 नवजात दम तोड़ चुके हैं। जिनकी मौत हुई उनमें सबसे ज्यादा 21 बच्चे सांस लेने में परेशानी के कारण मरे हैं। नवजात की मौत की बढ़ी संख्या को देख स्वास्थ्य विभाग ने जांच दल गठित कर दिया है।

मांगी रिपोर्ट: समीपी जिले के सीएमएचओ को लिखा पत्र
इधर, प्रकरणों की जांच में सामने आया कि 1 दिसंबर से अब तक 304 बच्चों को भर्ती किया, 136 एमसीएच में पैदा होने वाले व 168 रेफर बच्चे हैं। एमसीएच में पैदा हुए 14 व बाहर से आने वाले 36 नवजात की मौत हो गई। जबकि, तीन ऐसे नवजात हैं जिनकी मौत अन्य कारणों से हुई।


सीएस डॉ. आनंद चंदेलकर ने बताया रतलाम में धार, उज्जैन, मंदसौर, बांसवाड़ा जिले से भी डिलवरी के लिए केस आते हैं। नवजात रेफर होते हैं। इधर, सीएमएचओ ने आसपास के जिलों के सीएमएचओ को लेटर लिखा है। इसमें रेफर केस की समीक्षा करने का

अपडेट हिस्ट्री

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना