रतलाम / कोरोना से खाने पीने की वस्तुओं के साथ अनाज, सोना -चांदी तक सस्ते, आगे और घट सकते हैं दाम

संकेतात्मक फोटो संकेतात्मक फोटो
X
संकेतात्मक फोटोसंकेतात्मक फोटो

  • कोरोनावायरस से पूरे विश्व में के बाजारों में आर्थिक मंदी का दौर चल रहा है
  • हालांकि मंड़ियों में आलू और लहसुन की आवक कम होने से भाव में तेजी आई है

दैनिक भास्कर

Mar 19, 2020, 12:18 PM IST
रतलाम. कोरोना वायरस से जहां लोगों में डर हैं। वहीं इसने महंगाई कम कर दी है। इसका सबसे ज्यादा असर हमारे किचन पर हुआ है। शकर, तेल, चावल, दालें सहित किचन में उपयोग होने वाली रोजमर्रा की वस्तुओं के दाम कम हो रहे हैं। कारोबारियों के मुताबिक बाजार में ग्राहकी नहीं है। इससे भाव लगातार कम हो रहे हैं। यदि आगे भी कोरोना इफेक्ट रहता है तो आगामी दिनों में रोजमर्रा की वस्तुओं के दाम घटेंगे और आगे भी राहत मिलेगी।

रोजमर्रा की ये सामग्री हुई सस्ती
 सामग्री  पहले भाव  अब भाव
 सोयाबीन तेल  87 रुपए  82 रुपए
 तुअर दाल  90 रुपए  82 रुपए
 चना दाल   62 रुपए  55 रुपए
 चावल  110 रुपए  90 रुपए
 शकर  36 रुपए  35 रुपए

पेट्रोल और डीजल भी हुए सस्ते

 ईंधन  पहले भाव  अब भाव
 पेट्रोल  79.23 रुपए  77.60 रुपए
 डीजल  69.92 रुपए  68.33 रुपए

सोना और चांदी

 धातु  पहले भाव  अब भाव
 सोना  43000 रुपए  41500 रुपए
 चांदी  48000 रुपए  38500 रुपए

मंडी में आवक बढ़ी, कई अनाज हो गए सस्ते

 उपज  पहले भाव  अब भाव
 गेहूं  2000 से 2300 रुपए  1800 से 2200 रुपए
 चना  4400 से 4600 रुपए  3800 से 3900 रुपए
 डॉलर चना  5800 से 6000 रुपए  5000 से 5200 रुपए
 सोयाबीन  4400 से 4600 रुपए  3600 से 3800 रुपए
 मक्का  1800 से 2000 रुपए  1600 से 1700 रुपए

पंजाब मंडी में आवक कम होने से लहसुन-प्याज महंगे

 सामग्री  पहले भाव  अब भाव
 आलू  400 से 1000 रुपए  500 से 1800 रुपए
 लहसुन  1780 से 7500 रुपए  2300 से 8500 रुपए

(नोट- रोजमर्रा की वस्तुओं के भाव प्रतिकिलो, अनाज एवं आलु-लहसुन के भाव प्रति क्विंटल, पेट्रोल और डीजल के भाव प्रति लीटर, सोने के भाव प्रति दस ग्राम और चांदी के भाव प्रतिकिलो में है। पहले के भाव 1 मार्च के है।)

इसलिए सस्ती हो रही हैं रोजमर्रा की वस्तुएं

  • किराना व्यापारी गोविंद अग्रवाल ने बताया सोयाबीन तेल, दाल, चावल सहित किराना सामग्री में डिमांड ही नहीं है। कोरोना वायरस से पूरे विश्व में भाव में मंदी का माहौल है और बाजार में ग्राहकी नहीं है। इससे भाव गिर रहे हैं।
  • अनाज व्यापारी मनोज जैन ने बताया कोरोना वायरस से आयात और निर्यात पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है। बाजार में लेवाली ही नहीं है। इससे भाव कमजोर है।
  • सराफा व्यापारी कीर्ति बडज़ात्या ने बताया सोना और चांदी के भाव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तय होते हैं। कोरोना वायरस से पूरे विश्व में दाम गिर रहे है। इसका असर घरेलू बाजार पर हो रहा है और भाव लगातार कम हो रहे हैं।

आलू और लहसुन इसलिए हुए महंगे

सब्जी विक्रेता रमेश माली ने बताया मंडी में लहसुन और आलू की आवक कमजोर हो गई है। इससे भाव तेज है। आलू की आवक आसपास के जिलों के साथ ही पंजाब से होती है। वहां से आवक नहीं आ रही है। इससे आलू महंगा हो गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना