अपराध / यात्री बन बस में घुसे मनावर के बदमाशों ने डेढ़ किलो सोना व 7 लाख चुराए थे, सीसीटीवी में दिखे चेहरे, आंध्रप्रदेश पुलिस ले गई

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 01:09 PM IST



एसपी से मिलने पहुंची आरोपी की मां एसपी से मिलने पहुंची आरोपी की मां
X
एसपी से मिलने पहुंची आरोपी की मांएसपी से मिलने पहुंची आरोपी की मां

  • 19 अक्टूबर 2018 को आंध्र के नेरुल्ला जिले में दर्ज हुई थी रिपोर्ट, आंध्र पुलिस ने धार एसपी से मदद मांगी, 3 आरोपी दबोचे 
     

धार. मनावर के कंजर खेरवा के बदमाशों ने आंध्र प्रदेश के नेरुल्ला जिले में रैकी कर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। सड़क किनारे कार खड़ी कर बदमाश बस में यात्री बनकर घुसे और एक यात्री के बैग में रखा डेढ़ किलो सोना और सात लाख रुपए उड़ा दिए और फरार हो गए। 19 अक्टूबर 18 को कंजर खेरवा निवासी 3 लोगों पर आंध्र प्रदेश के नेरुल्ला जिले में चाेरी की वारदात करने का प्रकरण दर्ज किया गया था। फरार आरोपियों की तलाश करते हुए आंध्र पुलिस धार पहुंची। 


आरोपियों को पकड़ने के लिए एसपी बीरेंद्रसिंह को लेटर लिख कर मदद मांगी। एसपी सिंह ने धार क्राइम ब्रांच को मामले की पड़ताल सौंपी। क्राइम ब्रांच ने 3 आरोपियों को पकड़कर रविवार को आंध्र पुलिस के हवाले कर दिया। इस चोरी के अलावा कई अन्य करोड़ों रुपए की वारदातों का खुलासा होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं। आरोपी वाहिद, अशरफ और अमजद हैं जो आपस में रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। तीनों को पुलिस पूछताछ के लिए पुलिस आंध्रप्रदेश ले गई है। सराफा जानकारों के अनुसार वर्तमान में 10 ग्राम सोने का भाव 32700 रुपए है। इस हिसाब से डेढ़ किलो सोने का मूल्य करीब 48 लाख रुपए के लगभग है। 


नेरुल्ला जिले के बस स्टॉप के सीसीटीवी में कैद हुई थी वारदात 
बदमाशों ने पहले कार को सड़क किनारे खड़ी किया। यात्री बनकर बस में घुसे और चोरी कर फरार हो गए। नेरुल्ला के बस स्टॉप पर लगे सीसीटीवी फुटेज में तीन लोग कार में बैठे नजर आए। नंबर प्लेट से पुलिस को पता चला कि कार वाहिद निवासी कंजर खेरवा थाना मनावर जिला धार के नाम पर रजिस्टर्ड है। 2 माह से पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी थी। तलाश करते हुए बीते दिनों पुलिस धार पहुंची। एसपी सिंह से मदद मांगी। 


कार में बैठे मिले थे आरोपी 
मामले में क्राइम ब्रांच धार ने सक्रियता से काम किया। फुटेज में बदमाशों के चेहरे भी दिखाई दे रहे थे। इस आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की। सूत्रों से पुलिस को पता चला कि आरोपी एक कार में बैठे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस ने एक्शन लिया और तीनों आरोपियों को धरदबोचा। बताया जा रहा है कि आरोपी अपनी कार पर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर वारदातें करते थे। घटना को अंजाम देकर तुरंत फरार होने में माहिर हो चुके थे। चोरी कर संबंधित राज्य छोड़कर फरार हो जाते थे। 


धार में थानों के चक्कर लगाती रही आरोपी की मां 
आरोपी वाहिद की मां मेमुना बी निवासी सूरत अपनी नवासी सिमरन के साथ थानों के चक्कर काटती रही। मेमुना बी ने बताया कि मैं सूरत की रहने वाली हूं। मेरा लड़का वाहिद मुल्तान, मेरे जवाई अशरफ व संबंधी अमजद के साथ सूरत से अहमदाबाद के मोड़ासा में बिलाल, अरबाज व मेरी नवासी रायना की शादी, जो 15 जनवरी को है, उसमें जाने का कहकर निकले थे। रास्ते में नालछा दरगाह पर रुकने का कहा था, लेेकिन वो अब तक अहमदाबाद नहीं पहुंचे। 


जानकारी निकाली तो पता चला कि मेरे निर्दोष बच्चाें को पुलिस ने नालछा दरगाह से उठा लिया। मेमुना बी ने बताया कि मेरा लड़का वाहिद मेरे साथ सूरत में रहता है, हम लोग शौचालय बनाने का काम करते हैं। अशरफ और अमजद कंजर खेरवा में रहते हैं। मैं उनकी तलाश में सूरत से धार पहुंची। कोतवाली थाने गई तो वो तीनों वहां बंद थे।


मैंने पुलिस वालों से पूछा कि इन्हें क्यों बंद किया, लेकिन किसी ने जानकारी नहीं दी। मेरे जवाई को हाई ब्लड प्रेशर व शुगर की बीमारी है। मुझे इन्हें गोली दे देने दो लेकिन वो मुझे गोली भी नहीं देने दे रहे। मेरे जवाई को अटैक आ गया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। 


आंध्र के नेरुल्ला जिले में ड़ेढ़ किलो सोना और सात लाख रुपए नकद की चोरी की वारदात हुई थी। आरोपियों की तलाश करते हुए आंध्र पुलिस धार आई थी। उन्होंने हमसे मदद मांगी थी। आरोपियों को पकड़कर उनके हवाले किया है। पूछताछ के लिए आंध्र प्रदेश ले गए हैं। बीरेंद्रसिंह, एसपी धार

COMMENT