• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora News employees are getting involved in election people have cut off illegal colonies in two months due to easing of napa
--Advertisement--

कर्मचारी चुनाव में उलझे रहे, नपा की ढील से 2 माह में लोगों ने काट दीं अवैध कॉलोनियां

Ratlam News - पुरानी अवैध और अविकसित कॉलोनियों में मूलभूत सुविधाएं नहीं होने से लोग परेशान है। शासन, प्रशासन तमाम प्रयासों के...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:46 AM IST
Jaora News - employees are getting involved in election people have cut off illegal colonies in two months due to easing of napa
पुरानी अवैध और अविकसित कॉलोनियों में मूलभूत सुविधाएं नहीं होने से लोग परेशान है। शासन, प्रशासन तमाम प्रयासों के बावजूद ना तो इन कॉलोनाइजरों का बाल बांका कर सके और ना ही रहवासियों को सुविधाएं दिला पाए। उल्टे आपसी खींचतान व चुनावी बहाने से ढील दे दी। इसका फायदा उठाकर दो महीनों में कई स्थानों पर नई अवैध कॉलोनियां काट दी। प्रशासनिक स्वीकृति के बिना सड़कें बना दी। प्लॉट के सौदे हो गए। जबकि रेरा एक्ट में स्पष्ट प्रावधान है रजिस्टर्ड कॉलोनाइजर ही टीएनसी, नगर निकाय व सक्षम अधिकारी से अनुमति लेकर स्वीकृत ले-आउट के अनुसार ही कॉलोनी काटेगा। इसमें सभी मूलभूत सुविधाएं जुटाने के बाद ही प्लॉट या मकान बेच सकता है।

इसके उलट नगरीय क्षेत्र में तथा नगर से सटे इलाकों में चंद लाइसेंसी व ज्यादातर गैर लाइसेंसी लोग मनमर्जी से कॉलोनियां काट रहे हैं। इसके पास शहर से लगी सीमा में एक या दो बीघा अथवा इससे अधिक जमीन है, वह बाले-बाले मुरम या सीमेंट-कांक्रीट की रोड बनाकर उस जमीन को काॅलोनी का रूप देने में लगा हुआ है। इनमें कुछ डायवर्ट है तथा कुछ अनडायवर्ट भूमि है। फिर भी आम लोगों को सुविधाओं के सब्जबाग दिखाकर प्लॉट बुक किए जा रहे हैं व बेचे भी जा रहे हैं। खासकर ग्रामीण क्षेत्र से निकलकर नगर में बसने की इच्छा रखने वाले लोगों को इसमें धकेला जा रहा है। अब तक नगर से सटे बाहरी इलाकों में जो कॉलोनियां अवैध तरीके से काटी हैं, उनमें यही ट्रेंड सामने आया है।

बिना अनुमति के काटी कॉलोनी का पंचनामा बनाते नपा समयपाल सोलंकी।

एसडीएम-तहसीलदार को लिखा पत्र, एफआईआर करवाएंगे

नपा प्रभारी सीएमओ अशोक शर्मा ने बताया जिन भूमियों पर अवैध कॉलोनियां काटी जा रही है, उन सर्वे नंबरों की राजस्व कार्यालय से जानकारी मांगी है। इसमें देखा जाएगा कि ये भूमियां डायवर्ट है अथवा नहीं। आगे की कार्रवाई के लिए एसडीएम, तहसीलदार को पत्र लिखा है। इधर कॉलोनाइजर यदि बिना अनुमति फिर से काम शुरू करेगा तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। अब तक जो काम बिना अनुमति किया है, उसका भी जुर्माना भरवाकर इसे प्रक्रिया में शामिल करवाएंगे।

कॉलोनाइजरों ने ले-आउट अप्रूवल कराया ना ही बंधक प्लॉट के बदले में अमानत राशि जमा की

दो माह की आचार संहिता के दौरान सरकारी काम भले बंद थे लेकिन अवैध कॉलोनियां धड़ल्ले से काटी जा रही थी। विधानसभा चुनाव निपटाने के बाद जैसे ही नगरपालिका अमला फ्री हुआ तो पता चला कि कई खेतों में कॉलोनियों के ले-आउट डल गए। मुरम तो कहीं सीमेंट-कांक्रीट की सड़कें बन गई। जबकि नपा से किसी ने अनुमति नहीं ली। ना ले-आउट अप्रुवल करवाया और ना ही बंधक प्लाॅट अथवा इनके बदले अमानत राशि जमा करवाई। सूचना पर सीएमओ अशोक शर्मा ने टीम को फिल्ड में भेजा। नपा टीम ने इकबालगंज मैदान के पास तथा खाचरौद नाका क्षेत्र में धाकड़ धर्मशाला के पास दो अवैध कॉलोनी का काम रुकवाया। नपा कॉलोनी सेल के मनीष सोनी, सिद्धीक बैग, लोक निर्माण शाखा के समयपाल शैलेंद्रसिंह सोलंकी ने मौका पंचनामा बनवाया और खाचरौद नाका क्षेत्र में काटी जा रही कॉलोनी से 100 से अधिक सीमेंट की बोरियां जब्त की। संबंधित कॉलोनाइजर को नोटिस जारी किया लेकिन पता सही नहीं मिलने से नोटिस ही तामिल नहीं हुआ।

X
Jaora News - employees are getting involved in election people have cut off illegal colonies in two months due to easing of napa
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..