--Advertisement--

मध्यप्रदेश चुनाव / निर्मला भूरिया ने भरा नामांकन, कहा - मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य, पेटलावद का विकास

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 02:22 PM IST


four time legislator nirmala bhuria will fight against petlawad
X
four time legislator nirmala bhuria will fight against petlawad

  • 4 बार की विधायक निर्मला 5वीं बार पेटलावद से मैदान में हैं
  • 2013 में उन्होंने 17016 वोट से चुनाव में जीत हासिल की थी

झाबुआ. जिले की पेटलावद सीट से भाजपा प्रत्याशी निर्मला भूरिया ने शुभ मुहूर्त में शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने कहा - पार्टी ने मुझ पर एक बार फिर से विश्वास किया है, मैं इस विश्वास को कायम रखूंगी। मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य है और वह है पेटलावद का विकास।

निर्मला ने कहा - पेटलावद के विकास के लिए मेरे पिता जी ने बहुत काम किया है। मैं अपने पिता के ही पथ पर चलने की कोशिश कर रही हूं। उनके बताए मार्ग पर चलकर पेटलावद का विकास करने की कोशिश कर रही हूं। मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य है एक ही नारा है... पेटलावद का विकास... विकास और सिर्फ विकास। उन्होंने कहा - पार्टी में टिकट बंटवारे को लेकर कोई गतिरोध नहीं है। हम सब इस चुनाव में साथ मैदान में उतरेंगे और पिछली बार से ज्यादा मतों से जीत हासिल करेंगे।

 

पहली बार पिता की छत्रछाया के बिना विस का चुनाव लड़ेंगी

निर्मला भूरिया चार बार विधायक रह चुकी हैं। पांचवी बार उन्हें पेटलावद से मौका मिला है। वे एक बार कांग्रेस और तीन बार भाजपा के टिकट से विधायक रह चुकी हैं। इस बार उन्हें खुद को साबित करने की चुनौती है, क्योंकि अब तक चारों विधानसभा चुनावों में वे अपने पिता पूर्व सांसद दिलीपसिंह भूरिया की छत्रछाया में ही मैदान में उतरी हैं।

 

भूरिया के चुनावी प्रबंधन का लाभ उन्हें मिलता रहा। सांसद रहते दिलीपसिंह भूरिया का निधन जून 2015 में हुआ। खाली हुई इस लोकसभा सीट पर भाजपा ने उनकी बेटी निर्मला को उतारा लेकिन वे हार गईं। इतना ही नहीं जिस पेटलावद से वे विधायक हैं, उसी विधानसभा क्षेत्र में 14645 वोट कम मिले थे, जबकि वे 2013 में ही विधानसभा चुनाव 17016 वोट से जीती थीं।

Astrology
Click to listen..