मानव तस्करी / दादी से झगड़ घर से गई लड़की को महिला ने रतलाम में बेचा, आरोपी करता रहा दुष्कर्म



गुरदासपुर में गिरफ्तार किए मानव तस्करी के दो आरोपी और पीछे खड़ी पुलिस टीम, जिसने रतलाम में बेची गई लड़की को रेस्क्यू किया है। गुरदासपुर में गिरफ्तार किए मानव तस्करी के दो आरोपी और पीछे खड़ी पुलिस टीम, जिसने रतलाम में बेची गई लड़की को रेस्क्यू किया है।
X
गुरदासपुर में गिरफ्तार किए मानव तस्करी के दो आरोपी और पीछे खड़ी पुलिस टीम, जिसने रतलाम में बेची गई लड़की को रेस्क्यू किया है।गुरदासपुर में गिरफ्तार किए मानव तस्करी के दो आरोपी और पीछे खड़ी पुलिस टीम, जिसने रतलाम में बेची गई लड़की को रेस्क्यू किया है।

  • पंजाब पुलिस की गुरदासपुर इकाई ने मध्य प्रदेश के रतलाम से किया पीड़िता को बरामद
  • अमृतसर गोल्डन टैंपल में मुलाकात के बाद धोखे से मध्यप्रदेश ले गई थी महिला

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2019, 07:14 PM IST

गुरदासपुर. गुरदासपुर पुलिस ने मध्य प्रदेश के रतलाम में बेच दी गई एक नाबालिग लड़की को लाकर घर वालों को सौंप दिया है। वह अब से एक महीना और 13 दिन पहले अचानक उस वक्त लापता हो गई थी, जब बैंक से पैसे निकलवाने गई थी। नहीं लौटकर आने पर उसकी दादी ने पुलिस को शिकायत दी थी। पता चला है कि लड़की अमृतसर जा पहुंची। वहां गोल्डन टैंपल से एक महिला बहला-फुसलाकर अपने साथ मध्य प्रदेश ले गई। वहां एक व्यक्ति को 1 लाख 40 हजार रुपए में बेच दिया। आरोप है कि वह लड़की के साथ गंदा काम करता था। फिलहाल पुलिस ने दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

 

पुलिस को दी शिकायत में नबीपुर कॉलोनी निवासी महिला ने बताया था कि उनकी नाबालिग पोती 15 जून को पंजाब नेशनल बैंक में पैसे निकलवाने गई थी, लेकिन लौटकर नहीं आई। पुलिस ने लड़की की छानबीन शुरू कर दी थी, वहीं इसी बीच 19 जुलाई को लड़की ने अपने भाई के मोबाइल फोन पर मैसेज किया, ‘वीर जी प्लीज मैनूं लै जाओ मैं मध्यप्रदेश हां रतलाम, मेरी शादी हो चल्ली है, जिसके साथ होई है उसदा नां मनोज है अते उसदे पापा दा नां शंकर लाल है।' इस मैसेज के मिलने पर एसएसपी स्वर्णदीप सिंह के निर्देश पर एसपी हरविंदर सिंह संधू और डीएसपी सिटी राजेश कक्कड़ ने एसआई दीपिका, एएसआई गुरनाम सिंह, एएसआई निरंजन सिंह, पीएचसी कुलबीर सिंह और कॉन्स्टेबल रणजीत कौर की टीम 23 जुलाई को मध्यप्रदेश भेजी गई। पुलिस ने 26 जुलाई को पीड़िता को रतलाम थाना औद्योगिक क्षेत्र में पड़ते संबंधित पते से लड़की बरामद कर लिया। 

 

महिला धोखे से ले गई मध्यप्रदेश
पीड़िता ने बताया कि 15 जून को वह अपनी दादी के साथ झगड़ा करके घर से श्री दरबार साहिब अमृतसर चली गई थी। वह रात को गुरुद्वारे में ही रही। सुबह उसे कंवलजीत कौर पत्नी सुच्चा सिंह निवासी रमदास गुरुद्वारे के बाहर मिली। उसने उसे छबील में नशीली दवा पिला दी, जिसके चलते वह बेहोश हो गई। कंवलजीत कौर उसे ट्रेन से महाराष्ट्र ले गई। वहां पर महिला ने उसे सत्य नारायण नामक व्यक्ति के साथ मिलकर 26 जून को मनोज कुमार पोरोवाल को 1.40 लाख रुपए में बेच डाला। मनोज कुमार 10 जुलाई को उसके साथ शादी करने के बाद अब तक उसका यौन शोषण करता रहा।

 

पुलिस ने मनोज कुमार पोरोवाल पुत्र शंकर लाल निवासी रतलाम और सत्य नारायण उर्फ सत्तू पुक्ष द्वारका दास निवासी चाकुंडा, जिला प्रतापगढ़ राजस्थान को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के खिलाफ धारा 328, 372, 373, 376, 120-बी और पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। आरोपी कंवलजीत कौर को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस पार्टी रेड कर रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना