खुलासा / हम्मालों को पता था रोज बड़ी रकम लेकर निकलते हैं मोदी, लूटने के लिए मारी गोली



पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
X
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

  • गोली लगने पर 100 मीटर दूर चहल-पहल वाले इलाके में गिरे व्यापारी मोदी
  • व्यापारी के आबादी क्षेत्र में जाकर गिरने से लूट नहीं कर पाए थे आरोपी
  • नीमच से पिस्टल लाए, कारतूस रतलाम से ली, रैकी करते हुए व्यापारी के पीछे गए और मार दी थी गोली

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 11:48 AM IST

जावरा. लूट की नीयत से गोली मारकर मंडी व्यापारी भंवरलाल मोदी की हत्या करने वाले बदमाश कृषि मंडी के हम्माल ही निकले। इन्हें मालूम था कि व्यापारी रोज अकेले लाखों रुपए जावरा से मंडी लाते व ले जाते हैं। इसलिए इन्हें लूटना बेहद आसान है। यही सोचकर इन्होंने लूट का प्लान बनाया। रैकी करके वारदात अंजाम दी। चलती बाइक पर गोली मारने के बावजूद व्यापारी मोदी कुछ समझ नहीं पाए और 100 मीटर दूर चहल-पहल वाले इलाके में गिरे। उनके गिरते ही लोग मदद के लिए आ गए तो बदमाश लूट किए बगैर बिना रुके निकल गए। पुलिस ने मामले में एक नाबालिग समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीन फरार है।

 

एएसपी सुनील पाटीदार एवं सीएसपी अगम जैन ने शनिवार देरशाम लूट के प्रयास में गोली मारकर व्यापारी की हत्या करने का खुलासा किया। इन्होंने बताया 2 नवंबर की रात 8 बजे मंडी से घर लौट रहे व्यापारी भंवरलाल मोदी (65) निवासी सोमवारिया जावरा को गोली मारी थी। इलाज के दौरान तीसरे दिन मौत हो गई। आईए थाना पुलिस ने कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें एक 17 वर्षीय नाबालिग है जो 10वीं में पढ़ता है लेकिन मुख्य आरोपियों का दोस्त होने से वारदात में शामिल हुआ। बाकी आरोपियों में से गोली मारने वाला मोइन पिता ईशाक मेव (22) निवासी मेवातीपुरा, साथी शाहिद पिता मुन्ना कुरैशी (20) व वसीम पिता मुजफ्फर कुरैशी दोनों निवासी ऊंटखाना अरनियापिथा नई मंडी में ही छुटटी हम्माली करते है। चौथा आरोपी मुजफ्फर पिता नाहर खां कुरैशी (19) निवासी ऊंटखाना ने हाल ही में मवेशियों की खरीदी-बिक्री का काम शुरू किया था। पांचांे ने ही मिलकर महीनेभर पहले व्यापारियों को लूटने की साजिश रखी और रैकी शुरू कर दी। 2 नवंबर को जैसे ही मौका मिला व्यापारी भंवरलाल मोदी को गोली मार दी लेकिन लूट नहीं कर सके।

 

आईए थाना प्रभारी बीएल सोलंकी ने बताया आरोपी मोइन व मुजफ्फर की रिश्तेदारी नीमच में होने से इनका अक्सर वहां आना-जाना रहता था। इन्हें मालूम हुआ कि नीमच में केंट थाना क्षेत्र के नया बाजार निवासी मोहम्मद समीर पिता हारून कुरैशी व कालू खां के पास पिस्टल है। ये वहां जाकर पिस्टल लाए। तब समीर व कालू ने इन्हें कहा था कि इस पिस्टल के कारतूस रतलाम में कसाई मोहल्ला निवासी मकबूल पिता मतलुब कुरैशी के पास मिलेंगे। इसलिए ये रतलाम गए और वहां से दो कारतूस लेकर आए। महीनेभर पहले यह व्यवस्था कर ली। फिर रैकी शुरू की और वारदात अंजाम दी। पिस्टल 14 हजार मंे खरीदना तय की थी लेकिन ये 5 हजार ही जुटा पाए तो बाकी रुपए उधार किए। पिस्टल व कारतूस बेचने वालों को भी पुलिस ने आरोपी बनाया है। ये तीनों फरार है।

 

घायल व्यापारी झाड़ियों के पास गिरे नहीं
जांच अधिकारी विजय सनस ने बताया वसीम ने व्यापारी मोदी के मंडी से निकलने की सूचना दी। शाहिद एक बाइक पर तथा मोइन, मुजफ्फर व बाल अपराधी दूसरी बाइक पर थे। फोरलेन के तीर्थ पैलेस होटल से पहले झाड़ियों तक पीछा किया और सुनसान जगह देखकर मोइन ने गोली मार दी लेकिन व्यापारी टायर फटा यह सोचकर स्कूटी पर चलते रहे। वे करीब 100 मीटर दूर जहां होटलें-दुकानें थी, उनके सामने गिरे।

 

बाल अपराधी सुधारगृह भेजा, तीन की तलाश जारी- आरोपियों को शनिवार को कोर्ट में पेश किया। बाल अपराधी को सुधारगृह भेजा। चार को दो दिन के रिमांड पर लिया है। उनसे दो बाइक, तीन मोबाइल, पिस्टल व कारतूस जब्त किया है। जबकि तीन की तलाश है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना