Hindi News »Madhya Pradesh »Ratlam» महापूजन से शुरू होगा जिनालय में पंचाह्निका महोत्सव

महापूजन से शुरू होगा जिनालय में पंचाह्निका महोत्सव

टाटानगर शांति निकेतन कॉलोनी स्थित रुचि प्रमोद पार्श्वनाथ जिनालय की पंचम वार्षिक ध्वजारोहण वर्षगांठ धूमधाम से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 04:30 AM IST

महापूजन से शुरू होगा जिनालय में पंचाह्निका महोत्सव
टाटानगर शांति निकेतन कॉलोनी स्थित रुचि प्रमोद पार्श्वनाथ जिनालय की पंचम वार्षिक ध्वजारोहण वर्षगांठ धूमधाम से मनाई जाएगी। शासन प्रभावक, ज्योतिष सम्राट, आचार्य देवेश श्रीमद् विजय ऋषभचंद्र सूरीश्वरजी की प्रेरणा से वर्षगांठ के उपलक्ष्य में 17 से 21 अप्रैल तक मंदिर में पंचाह्निका महोत्सव मनाया जाएगा। महोत्सव का शुभारंभ मंगलवार को महापूजन के साथ होगा।

पंचम वार्षिक ध्वजारोहण वर्षगांठ के कार्यक्रम दादा गुरुदेव श्रीमद् विजय राजेंद्र सूरीश्वरजी के 150वें पाटोत्सव, 171वां दीक्षा पर्याय एवं 166 वां बड़ी दीक्षा दिवस के साथ होंगे। इस वर्ष महावर्षीतप संकल्प श्रीमद् विजय धनचंद्रसूरिजी की 100 वीं स्वर्गारोहण जयंती, श्रीमद् विजय हेमेंद्रसूरिजी की 100वीं जन्म जयंती वर्ष एवं मुनिराज प्रमोदरुचिजी की 177 वीं जन्म जयंती सहित अन्य प्रसंग भी पंचाह्निका महोत्सव के साथ आएंगे। प्रभुश्री पार्श्व शांतिनाथ जैन श्वेतांबर धार्मिक चेरिटेबल ट्रस्ट मंडल के अध्यक्ष एडवोकेट फतेहलाल कोठारी ने बताया महोत्सव का शुभारंभ 17 अप्रैल को दोपहर 12.39 बजे महापूजन के साथ होगा। इसके बाद 18 व 19 अप्रैल को भी महापूजन होंगे। 20 अप्रैल को सुबह व शाम को अभिषेक, पूजन तथा शाम को प्रभु भक्ति का आयोजन होगा। 21 अप्रैल को सुबह ध्वजा का वरघोड़ा निकलेगा। इसके बाद ध्वजारोहण किया जाएगा। ट्रस्ट सचिव दीपेंद्र कोठारी, ट्रस्टीगण विजय तलेरा, राजेंद्र धारीवाल, हेमंत बोथरा, धन्नालाल गुगलिया, प्रदीप पावेचा, नरेंद्र बनवट, इंदरमल जैन, अजय सिसौदिया आदि ने कार्यक्रम में उपस्थित रहने की अपील की।

ध्वजारोहण वर्षगांठ

शांति निकेतन कॉलोनी स्थित रुचि प्रमोद पार्श्वनाथ जिनालय में आज से 21 तक होंगे कई आयोजन

आयोजन को लेकर जिनालय में आकर्षक विद्युत सज्जा की गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratlam

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×