Hindi News »Madhya Pradesh »Ratlam» आयुर्वेदिक कॉलेज के हौद में डूबने से हुई डेढ़ वर्षीय बालिका की मौत

आयुर्वेदिक कॉलेज के हौद में डूबने से हुई डेढ़ वर्षीय बालिका की मौत

बंजली स्थित डॉ. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेदिक कॉलेज में गुरुवार शाम पानी के हौद में डेढ़ वर्षीय बालिका डूब गई।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 05:55 AM IST

बंजली स्थित डॉ. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेदिक कॉलेज में गुरुवार शाम पानी के हौद में डेढ़ वर्षीय बालिका डूब गई। परिजन और कॉलेज कर्मचारी उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। यह कॉलेज भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश सहसंयोजक डॉ. राजेश शर्मा का है। 22 फरवरी को उनके काटजू नगर स्थित डिस्ट्रिक्ट मेडिकल कॉलेज में आग से चार महिलाएं झुलस गई थीं। पुलिस ने इसे दुर्घटना मानकर फाइल बंद कर दी। तीन महीने में यह दूसरी गंभीर घटना हो गई।

जानकारी के अनुसार कॉलेज में काम करने वाला पड़ाव (सरवन) निवासी नारायण भाभर महाविद्यालय परिसर में ही रहता है। उसकी प|ी रामकन्या कॉलेज में साफ-सफाई करती है। नारायण ने बताया गुरुवार शाम डेढ़ वर्षीय बालिका इशिता फर्श पर सो रही थी। रामकन्या झाड़ू-पोंछा कर रही थी। जागने के बाद खेलते-खेलते बालिका हौद के पास पहुंची बालिका पानी में डूब गई। बालिका नहीं दिखी तो रामकन्या ने तलाश की। बगीचे में कमल के फूल के लिए बने हौद में बालिका को देख शोर मचाया। आवाज सुनकर नारायण और कर्मचारी आए और बालिका को शाम 5.15 बजे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टर एस.एस. गुप्ता ने मृत घोषित कर दिया। टीआई राजेशसिंह चौहान ने बताया बालिका का पोस्टमार्टम शुक्रवार सुबह होगा। मर्ग दर्ज कर जांच की जाएगी।

डॉ. शर्मा ने बताया वे रतलाम में नहीं हैं। कॉलेज प्रबंधक सबा खान ने उन्हें घटना की सूचना दी। सुरक्षा गार्ड की प|ी ने बालिका को भोजन करवाने के बाद जमीन पर सुला दिया था। जागने के बाद बालिका खेलते हुए बगीचे में कमल के फूल के लिए बनाए हौद तक पहुंची और पानी में डूब गई। उसे अस्पताल लाए तब तक मौत हो चुकी थी।

काटजूनगर स्थित मेस में चार महिलाएं झुलसी थीं

जानकारी के अनुसार 22 फरवरी को काटजू नगर स्थित डिस्ट्रिक्ट होम्योपैथी कालेज की मेस में गैस सिलेंडर में आग लगने से मीना पति महेंद्रसिंह सोहल निवासी विनोबा नगर, हीराबाई पति करणसिंह दिवाकर निवासी रेल नगर, मुशर्रफ बी उर्फ छोटी आपा पति काले खां निवासी सखवाल नगर और ईश्वर नगर निवासी प्रेमलता झुलस गई थी। संबंधित विभाग और पुलिस को जानकारी देने के बजाय घायलों का श्रद्धा नर्सिंग होम में प्राथमिक उपचार किया। उपचार के बाद हीराबाई, छोटी आपा और प्रेमलता को छुट्टी दे दी। मीना सोहल को नर्सिंग होम में भर्ती किया। इलाज में लापरवाही शुरू हुई तो मीना के परिजन ने 27 फरवरी को एसपी अमित सिंह से शिकायत की। घटना के दस दिन बाद औद्योगिक क्षेत्र थाने से पहुंचे एएसआई जी.एल. परमार ने बयान दर्ज किए। मामले को दुर्घटना मानकर फाइल बंद हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratlam

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×