मौसम / नवंबर में भी बारिश, स्वेटर की जगह फिर निकले रेनकोट व छाते

Mandsaur Weather Forecast,  Dev Uthani Ekadashi 2019
X
Mandsaur Weather Forecast,  Dev Uthani Ekadashi 2019

  • हवा से तापमान 2.6 डिग्री गिरा, विशेषज्ञ के अनुसार मौसम में बदलाव दिखने लगा है, सप्ताहभर में तापमान में तेजी से गिरावट व ठंड बढ़ने लगेगी

दैनिक भास्कर

Nov 09, 2019, 04:35 PM IST

मंदसौर. रक्षाबंधन के बाद अब देवउठनी ग्यारस तक बारिश का असर जारी है। जिले में 84 इंच बारिश से पहले बाढ़ जैसे हालात बन गए थे। किसान जैसे-तैसे खरीफ की फसल को खेत पर नष्ट कर रबी सीजन के लिए जुताई कर रहा है। अब बारिश फिर पैर पसारने लग गई है। ऐसे में यह समस्या बन गई है। बाजार में देवउठनी ग्यारस की खरीदारी के लिए आए लोग छाते का सहारा लेते रहे तो शहरवासी कामकाज के लिए रेनकोट पहनकर निकले। बताया जाता है कि मालवा की मशहूर कहावत है पग-पग रोटी, डग-डग नीर। लेकिन यहां हर त्योहार पर नीर ही नीर है।

 

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक सप्ताहभर में ठंड जोर पकड़ने लगेगी। सुबह शहर सहित अंचल के कई हिस्सों में कोहरा छाया रहा। इसके बाद बादल छाए और सुबह 11 बजे शुरू हुअा रिमझिम बारिश का दाैरान 2 घंटे तक चला। इस दाैरान कुछ देर तेज बारिश भी हुई। लोगों ने स्वयं को भीगने से बचाने के लिए छाते का सहारा भी लिया। बारिश व हवा के अधिकतम तापमान गुरुवार 29.4 डिग्री के मुकाबले 2.6 डिग्री गिरकर शुक्रवार काे 27 डिग्री पर अा गया। इससे लाेगाें काे ठंड का अहसास हुअा। मौसम विशेषज्ञ डॉ. एस.एन. मिश्रा के मुताबिक मौसम में बदलाव दिखने लगा है। संभावना है कि अगले सप्ताहभर तापमान में तेजी से गिरावट ठंड बढ़ने लगेगी।

 

ठंड देर से दस्तक दे रही, मार्च तक बनी रह सकती है
इस बार ठंड ने अक्टूबर के बजाय नवंबर के दूसरे सप्ताह से असर दिखाना शुरू किया है। ऐसे में संभावना बन रही कि इस बार ठंड का दौर मार्च तक बना रह सकता है। इसका बड़ा कारण ये भी है कि इस बार जिले में 84 इंच बारिश हुई है।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना