• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora News mp news 35 panchayats have got wi fi in two years due to csc scheme the rest were backward in digital due to cable failure

सीएससी योजना से दो साल में 35 पंचायतें हुईं वाई-फाई, बाकी केबल खराब होने से डिजिटल में पिछड़ीं

Ratlam News - ग्रामीण क्षेत्र के हर व्यक्ति को इंटरनेट से जोड़ने की केंद्र सरकार की योजना अधिकारियों की लापरवाही के कारण फेल हो...

Jan 26, 2020, 07:51 AM IST
Jaora News - mp news 35 panchayats have got wi fi in two years due to csc scheme the rest were backward in digital due to cable failure

ग्रामीण क्षेत्र के हर व्यक्ति को इंटरनेट से जोड़ने की केंद्र सरकार की योजना अधिकारियों की लापरवाही के कारण फेल हो रही है। क्योंकि केंद्र सरकार की डिजिटल योजना के तहत 100 पंचायतों में इंटरनेट सुविधा शुरू होना थी। अभी तक 35 पंचायतें ही डिजिटल हो पाई हैं। बाकी में जो उपकरण लगे हैं वो शोपीस बने हुए हैं। पंचायतों के डिजिटल नहीं होने का कारण इंटरनेट केबल खराब होना और जवाबदारों द्वारा केबल दुरुस्त करने व परिवर्तन करने में लेटलतीफी करना है।

पंचायतों में मोडेम, वाईफाई के लिए 8 जगह राउटर लगाए। संबंधित कंपनी ने जल्द ही सेवा शुरू करने का दावा किया। इसके बावजूद लोगों को सस्ती पर इंटरनेट सुविधा नहीं मिली। कॉमन सर्विस सेंटर(सीएससी) ने योजना के तहत जावरा व पिपलौदा ब्लाॅक की 40-40 पंचायतों में वाईफाई उपकरण लगाए थे। शुरूआती दौर में असावती, मांडवी, लसुड़ियाखेड़ी, खजुरिया, बर्डियागोयल, लोद, केरवासा, राकोदा, आकतवासा, लालाखेड़ा, रेवास, भीमाखेड़ी, पिपलौदा ब्लॉक के रियावन, कालूखेड़ा, माऊखेड़ी, सोहनगढ़ में वाई-फाई शुरू कर चौपाल लगाई थी। बाद में इन गांवों में सुविधा बंद हो गई। ऐसे ही हालत अन्य गांवों में है। क्योंकि बीएसएनएल की इंटरनेट केबल जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं और कनेक्टिविटी संभव नहीं है। अब नए सिरे से केबल डलेगी, इसके बाद काम शुरू होगा।

100 में से 35 ही डिजिटल, बाकी फेल


जिले में 100 पंचायतों को वाईफाई लेस कर डिजिटल करना था। इसके बाद 8 पंचायतें बाहर हो गईं। फिर सिर्फ 92 पंचायतों का टारगेट था। इनमें से अब तक 35 पंचायतों में ही इंटरनेट की कनेक्टिविटी हो पाई है। बाकी जगह केबल खराब होने या कट लगने से इंटरनेट से जुड़ नहीं पा रहे हैं। जावरा की 15, पिपलौदा की 20 पंचायत अभी सुचारु रूप से डिजिटल की ओर बढ़ गई हैं। बाकी 57 पंचायतों में काम बंद है। नई केबल डलेगी और काम शुरू होगा।


दो महीने में डल सकती है केबल

कॉमन सर्विस सेंटर के जिला प्रबंधक सुनील पोरवाल ने बताया पंचायतों को पहले ही वाईफाई लेस हो जाना चाहिए था। केबल नेटवर्किंग नहीं होने से कनेक्टिविटी नहीं हो पा रही है। अब जब तक नई केबल नहीं डलेगी, तब तक कुछ नहीं हो सकता। उम्मीद है कि दो महीने में केबल डल जाएगी और फिर पंचायतों को डिजिटल करेंगे।

कई पंचायतों में उपकरण भी टूट गए

कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से पंचायतों को जब से डिजिटल करने की शुरुआत हुई थी, इसके बाद स्पीड से काम किया जा रहा था। अधिकतर पंचायतों में उपकरण लग गए थे, लेकिन पंचायतों के डिजिटल होने से पहले ही उपकरण टूट गए और कुछ धूल खा रहे हैं। प्रचार-प्रसार भी हुआ। बीच में कुछ पंचायतें ऐसी थी जहां वाई-फाई सेवा तो शुरू हो गई, लेकिन बाद में बीएसएनएल की फाइबर केबल डेमेज होने से जो पंचायतें डिजिटल हुई थीं वहां सेवा फिर ठप हो गई।

पंचायतों को डिजिटल करने के लिए लगाए थे वाई-फाई उपकरण।

X
Jaora News - mp news 35 panchayats have got wi fi in two years due to csc scheme the rest were backward in digital due to cable failure

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना