राधाकुआं में आंगनवाड़ी कच्चे मकान में लग रही, कार्यकर्ता से की पूछताछ

Ratlam News - महिला एवं बाल विकास विभाग में भवन उन्नयन के नाम पर की गई गड़बड़ी के मामले में अब दोबारा जांच की जा रही है। मंगलवार को...

Dec 04, 2019, 10:10 AM IST
महिला एवं बाल विकास विभाग में भवन उन्नयन के नाम पर की गई गड़बड़ी के मामले में अब दोबारा जांच की जा रही है। मंगलवार को आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ की टीम सैलाना ब्लाॅक में पहुंची। यहां भवनों का भौतिक सत्यापन किया तो वहीं कार्यकर्ताओं से पूछताछ भी की।

टीम के सदस्य ने भवनों की जांच करना सुबह 10 बजे से ही शुरू कर दिया था। सकरावदा, बल्लीखेड़ा, लूनी, अडवानिया, धभाईखेड़ा, कोटड़ा, राधाकुआं, सरवन, भीलो की खेड़ी में भवनांे का भौतिक सत्यापन किया गया। राधाकुआं में तो आंगनवाड़ी भवन झोपड़ीनुमा कच्चे मकान में चल रहा था। कार्यकर्ताओं से पूछताछ की गई। टीम के सदस्यों के साथ ईई आरपी चतुर्वेदी व मनीष डबकरा थे। उन्होंने भवनों की वास्तविक लोकेशन, क्षेत्र की नपती भी ली। आंगनवाड़ी भवन उन्नयन के नाम पर अनियमितता का मामला 2013-14 में सामने आया था। इसमें कम भवनों का उन्नयन कर लाखों की राशि निकालने के आरोप लगे थे। इसमें भ्रष्टाचार सहित अन्य आरोपों को लेकर शिकायत भी की गई थी। कलेक्टर बी. चंद्रशेखर ने जिला पंचायत की शिकायत शाखा के नोडल अधिकारी के जांच प्रतिवेदन पर सैलाना एकीकृत बाल विकास कार्यालय की पर्यवेक्षक प्रेरणा चौहान को दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया था। 2017 में ईओडब्ल्यू के तत्कालीन डीएसपी प्रदीप विश्वकर्मा सैलाना व बाजना में आंगनवाड़ी का निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट भी दे चुके हैं लेकिन मामले में शिकायतकर्ता महेश पांचाल ने दोबारा शिकायत कर पारदर्शिता से जांच की मांग की है। ऐसे में अब भवनों की दोबारा जांच हो रही है। मंगलवार को शाम 6 बजे तक जांच दल अपनी जांच में जुटा रहा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना