डीएसपी देविंदर आतंकी नावेद, उसके दो साथियों को जून में ही चंडीगढ़ ले गया था

Ratlam News - संजीव महाजन | चंडीगढ़. आतंकियों की मदद करने के आरोपी डीएसपी देविंदर सिंह को लेकर बुधवार को कई खुलासे हुए। सूत्रों...

Jan 16, 2020, 09:40 AM IST
संजीव महाजन | चंडीगढ़. आतंकियों की मदद करने के आरोपी डीएसपी देविंदर सिंह को लेकर बुधवार को कई खुलासे हुए। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनअाईए) को पूछताछ में पता चला है कि देविंदर जम्मू-कश्मीर में हिजबुल के आतंकी नावेद बाबा और आसिफ के साथ पकड़े जाने से कई महीने पहले ही नावेद के संपर्क में था। हिजबुल आतंकी कई शहरों में हमले करना चाहते थे। इसी कड़ी में बीते साल जब सेना ने वहां सख्ती शुरू की, तो देविंदर आतंकियों को श्रीनगर से 25/26 जून को पठानकोट तक अपने साथ लाया। यहां से देविंदर और आतंकी अलग हुए। वहां से डीएसपी चंडीगढ़ पहुंच गया और सेक्टर 51 के एक फ्लैट में रुका। दो दिन बाद नावेद दो साथियों के साथ देविंदर के पास चंडीगढ़ पहुंचा। यहां सभी दो दिन रुके। इस दौरान आतंकी सेक्टर 19 की मार्केट और एलांते माल भी गए। नावेद के साथी की तबीयत खराब होने से वे रात को सेक्टर 32 के सरकारी अस्पताल भी गए। मोहाली के एक कॉलेज के दो स्टूडेंट से भी ये लोग मिले, जो इनके रिश्तेदार बताए गए। एनआईए अब देविंदर से से यह पता लगा रही है कि आखिर इसके पीछे मंशा क्या रही। वे चंडीगढ़ में रैकी कर रही थे, तो वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने क्या प्लानिंग बनाई। पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ कि चंडीगढ़ से आतंकी देविंदर से अलग हुए। देविंदर यहां से बांग्लादेश बाॅर्डर के लिए निकला, क्योंकि उसकी बेटी बंगलादेश में पढ़ रही है। सूत्रों की मानें तो जल्द इस मामले में चंडीगढ़ के एक व्यक्ति और मोहाली के प्राइवेट कॉलेज के छात्रों से पुलिस पूछताछ कर सकती है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना