पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Tal News Mp News During These Monsoon These Four Insurance Policies Will Cover You With Every Risk

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मानसून के दौरान ये चार बीमा पॉलिसी आपको हर जोखिम का कवर देगी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश के मौसम में देश के विभिन्न इलाकों में चक्रवात और बाढ़ का आना अब आम बात हो गई है। इनसे जान-माल का काफी नुकसान होता है। सैलाब या बाढ़ से न सिर्फ आपकी संपत्ति की सुरक्षा को लेकर जोखिम खड़ा हो जाता है, बल्कि इस मौसम में स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां भी चरम पर होती हैं। ऐस में आप उचित बीमा कवर लेकर मानसून के दौरान उभरने वाले इन वित्तीय जोखिमों से सुरक्षा पा सकते हैं।

मोटर इंश्योरेंस : भारी बारिश के दौरान सड़कों पर जल जमाव में वाहन फंस जाते हैं। इससे अक्सर वाहनों के इंजन जाम हो जाते हैं या उन्हें नुकसान पहुंचता है। एक कॉम्प्रिहेंसिव मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ-साथ एड-ऑन कवर लेकर आप किसी बड़े खर्च से बच सकते हैं। ज्यादातर लोगों को मालूम नहीं होता है कि एक स्टैंडर्ड मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी में वॉटर सीपेज की वजह से इंजन को हुआ नुकसान कवर नहीं होता है।

होम इंश्योरेंस : भारतीय अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा होम लोन की ईएमआई चुकाने और घर की सजावट पर खर्च करते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग अपने घर और घर में रखे सामान की सुरक्षा के लिए उचित बीमा कवर नहीं लेते हैं। एक कॉम्प्रिहेंसिव होम इंश्योरेंस बाढ़ के पानी से प्रॉपर्टी को हुए नुकसान के खिलाफ सुरक्षा मुहैया कराता है। बाढ़ का पानी घर में रखे टीवी, फ्रिज, होम अप्लायंसेज, मोबाइल फोन, लैपटॉप जैसे पोर्टेबल इक्विपमेंट, इलेक्ट्रिक आइटम, कलाकृति, ज्वैलरी, घर के पैंट, इलेक्ट्रिक फिटिंग्स आदि को नुकसान पहुंचा सकता है। हाेम इंश्योरेंस आपको इन सब जोखिमों से सुरक्षा मुहैया कराता है। यह सिर्फ मकान मालिक तक ही सीमित नहीं है, किराएदार भी किराए के मकान में रखे अपने सामान का इंश्योरेंस करा सकता है।

हेल्थ इंश्योरेंस : बरसात में पानी इकट्ठा होने, हवा में नमी, गंदगी आदि के बढ़ने से कई तरह की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। बीमार पड़ने पर उसके इलाज में आपको बड़ी रकम भी खर्च करनी पड़ सकती है। अस्पताल में भर्ती होने पर इलाज का खर्च सालाना कम से कम 15% की दर से बढ़ रहा है। इसलिए आपके पास एक उचित हेल्थ इंश्योरेंस कवर भी होना चाहिए। यह आपके अस्पताल में भर्ती होने पर इलाज के खर्च उठाने में आपकी मदद करेगा। आपको खुद की जेब से कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

पर्सनल एक्सीडेंट कवर : व्यक्ति के पास अलग से एक पर्सनल एक्सीडेंट पॉलिसी भी होना चाहिए। यह बीमा आपको बीमाधारक के दुर्घटना में घायल होने/मृत्यु से उभरने वाले वित्तीय जोखिम से आपको या परिवार को सुरक्षा मुहैया कराता है। यह पॉलिसी आपको मृत्यु, स्थायी विकलांगता, स्थायी आंशिक विकलांगता, अस्थायी विकलांगता के खिलाफ कवर मुहैया कराती है। इससे आप यह सुनिश्चित कर पाते हैं कि दुर्घटना से आपकी और आपके परिवार की वित्तीय स्थिति नहीं गड़बड़ाएगी। गर्मी के सीजन के बाद मानसून आने का हम स्वागत करते हैं। पर साथ ही पर्याप्त इंश्योरेंस कवर लेना चाहिए। इससे किसी अनहोनी से आप कम से कम आर्थिक नुकसान सुनिश्चित कर सकते हैं।

- ये लेखक के निजी विचार हैं। इनके आधार पर निवेश से नुकसान के लिए दैनिक भास्कर जिम्मेदार नहीं होगा।

शशिकुमार आदिदमु, चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर, बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें