पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चार माह से टाइफाइड से पीड़ित गारमेंट व्यवसायी ने लगाई फांसी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

धानमंडी में शनिवार सुबह गारमेंट व्यवसायी ठाकुरदास नाथानी ने दुकान के गोदाम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजन के अनुसार चार महीने से टाइफाइड से पीड़ित थे। दो-तीन दिन से कह रहे थे अब ठीक नहीं हो पाऊंगा। शंका है डिप्रेशन के कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली। 28 फरवरी को इसी परिवार की महिला ने कस्तूरबा नगर के घर में फांसी लगाई थी।

पुलिस के अनुसार चचेरे भाई राहुल ने सुबह दुकान खोली। पिता ठाकुरदासजी सुबह करीब 10.30 बजे घर से दुकान पर आकर बैठे। थोड़ी देर बाद पीछे गोदाम में चले गए। करीब 11.45 बजे दुकान से सामान लेने गए मयूर ने पिता को पंखे पर रस्सी से बंधे फंदे पर लटके देखा। मयूर ने बताया पिताजी टाइफाइड की वजह से डिप्रेशन में थे।

चचेरे भाई की प|ी ने भी फांसी लगा ली थी

कस्तूरबा नगर में होटल संचालक रमेश नाथानी की प|ी सपना ने 27 फरवरी की रात को अपने घर में फांसी लगा ली थी। भोजन के बाद पैदल घूम कर घर लौटे पति रमेश नाथानी घर लौटे तब तक प|ी ने वेंटिलेशन पर दुपट्टे से बांधकर फांसी लगा ली थी। पति ने बताया था कि सास के निधन के बाद वह डिप्रेशन में थीं।

ठाकुरदास नाथानी
खबरें और भी हैं...