• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora News mp news in the files jk rubber was traded in the name of the prestigious brand the fake lpg pipes

फाइलों में जेके रबर नाम से कारोबार, प्रतिष्ठित ब्रांड के नाम से बेच रहे थे नकली एलपीजी पाइप

Ratlam News - दूसरी कंपनी के रजिस्टर्ड ब्रांड “सुरक्षा एलपीजी होस पाइप’ नाम से नकली पाइप बनाकर मार्केट में सप्लाई करने वाली...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:55 AM IST
Jaora News - mp news in the files jk rubber was traded in the name of the prestigious brand the fake lpg pipes
दूसरी कंपनी के रजिस्टर्ड ब्रांड “सुरक्षा एलपीजी होस पाइप’ नाम से नकली पाइप बनाकर मार्केट में सप्लाई करने वाली फैक्टरी पर छापामार कार्रवाई के बाद पुलिस इसके दस्तावेज खंगालने में जुटी हैं। शुरुआती कार्रवाई में गिरफ्तार फैक्टरी संचालक को तीन दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है लेकिन वह कुछ बोलने को तैयार नहीं। पुलिस को फैक्टरी मालिक की तलाश है। उसकी गिरफ्तारी के बाद चार साल में हुए कारोबार एवं इससे जुड़े राज उजागर होंगे।

सीएसपी अगम जैन ने बताया अब तक की जांच में पता चला है कि नकली एलपीजी पाइप बनाकर बेचने वाले आरोपियों अमृतलाल पाटीदार (फैक्टरी संचालक एवं मैनेजर), कपिल पटेल (फैक्टरी मालिक) दोनों निवासी रपट रोड जावरा ने कागजों व फाइलों में अपना पूरा कारोबार तथा फैक्टरी का रजिस्ट्रेशन जेके रबर इंडस्ट्रीज नाम से दर्शा रखा है। इसी नाम से सारे दस्तावेज तैयार होते हैं लेकिन यहां बनने वाले नकली पाइप की ब्रांडिंग, मार्का तथा पैकिंग असली कंपनी वंश इंडस्ट्रीज किशनपुरा बद्दी हिमाचल प्रदेश व इसी के रजिस्टर्ड ब्रांच सुरक्षा एलपीजी होस पाइप नाम से हो रही थी। नकली पाइप को असली सुरक्षा ब्रांड नाम से मार्का लगाकर व पैकिंग करके आधे से कम कीमत में मार्केट में सप्लाई किया जा रहा था। पुलिस ने शुक्रवार को अमृतलाल पाटीदार को गिरफ्तार कर तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। शनिवार को इससे पूछताछ के साथ ही नकली पाइप व पैकिंग सामग्री के जांच सैंपल लिए गए। इन्हें भोपाल लैब भेजा जाएगा।

पैकिंग में कलर व बनावट का थोड़ा से अंतर, पहली नजर में असली व नकली में परख करना मुश्किल

सब इंस्पेक्टर विजय सनस ने बताया जेके रबर इंडस्ट्रीज संचालकों द्वारा जो नकली पाइप बनाकर बेचे जा रहे थे, उन पाइप पर प्रोडक्शन कंपनी का नाम तक वंश इंडस्ट्रीज लिखा जा रहा था। पैकिंग मटेरियल भी सुरक्षा ब्रांड का है। पहली नजर में असली व नकली की पैकिंग देखने पर अंतर पता करना मुश्किल हो जाता है। हालांकि असली पैकिंग का कलर, बनावट व मार्का ज्यादा स्पष्ट है, जबकि नकली पैकिंग का कलर भद्दा या कम शाइनिंग वाला है। नीले रंग की असली पैकिंग पर जहां सुरक्षा लिखा है, वहां नीचे दो राउंड में पाइप बना हुआ है। इस पर चैंज बिफोर जून/23 लिखा है, जबकि इसी रंग की नकली पैकिंग पर सुरक्षा नाम के नीचे पाइप का राउंड उलटा है। इस पर कुछ लिखा हुआ भी नहीं है। इसी तरह के नाम-मात्र अंतर से नकली पाइप मार्केट में सप्लाई किया जा रहा था।

ऊपर वाली तीनों पैकिंग असली ब्रांड है, जबकि नीचे पंक्ति की तीनों पैकिंग नकली एलपीजी गैस के पाइप है।

ये है मामला, फैक्टरी के मालिक पटेल की मोबाइल लोकेशन तलाश रही पुलिस

असली कंपनी वंश इंडस्ट्रीज के जनरल मैनेजर साहू की सूचना पर आईए थाना पुलिस ने गुरुवार रात रतलाम नाका के पास औद्योगिक क्षेत्र में जेके रबर फैक्टरी पर दबिश दी। वहां से नकली पाइप बनाने की सामग्री, पैकिंग मटेरियल जब्त किया। मौके से फैक्टरी संचालक अमृतलाल पाटीदार को गिरफ्तार किया। मालिक कपिल पटेल फरार है। सीएसपी ने बताया कपिल की गिरफ्तारी के लिए लोकेशन पता कर रहे हैं। जल्द उसकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

उद्योग व वाणिज्यिक कर अधिकारी बोले-पुलिस जांच में पूरा सहयोग किया जाएगा

सीएसपी अगम जैन ने कहा जीएसटी व अन्य टैक्स चोरी की आशंका है। अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ कि ये लोग पक्के बिल पर माल सप्लाई करते थे अथवा बिना टीन नंबर का। जो भूमि लीज पर मिली है, वह किसके नाम है तथा यहां किस प्रकार के उद्योग व प्रोडक्शन का रजिस्ट्रेशन है। यह भी जांच का विषय है। इसे लेकर उद्योग विभाग व वाणिज्यिक कर विभाग को पत्र लिखकर जांच करवाई जाएगी। मामले में वाणिज्यिक कर अधिकारी श्वेता सांठे का कहना है हम इंदौर की इन्वेस्टिगेशन विंग को जानकारी दे देंगे। वहां से जांच टीम आ सकती है। वहीं उद्योग विभाग रतलाम के महाप्रबंधक अमरसिंह मोरे का कहना है पुलिस जांच में पूरा सहयोग किया जाएगा। सोमवार को दस्तावेज देखने के बाद ज्यादा जानकारी दी जा सकती है।

बिना रजिस्ट्रेशन के ही लाइसेंस नंबर में आगे के तीन जीरो हटाकर बेच रहे नकली पाइप

जेके रब्बर इंडस्ट्रीज संचालकों के खिलाफ एफआईआर लांच करवाने वाले असली कंपनी वंश इंडस्ट्रीज हिमाचल प्रदेश के जनरल मैनेजर मनोज साहू ने बताया इंडेन, भारत व एचपी तीनों आइल कंपनियों ने मिलकर एलईआरसी (एलपीजी इक्वीपमेंट रिसर्ज सेंटर) को लाइसेंस के लिए अधिकृत कर रखा है। पूरे भारत में एलपीजी होस पाइप बनाने के लिए इसी एलईआरसी से ब्रांड लाइसेंस लेना जरूरी है। जनरल मैनेजर साहू का कहना है पूरे भारत में 14 से 15 ही कंपनियां एलईआरसी से रजिस्टर्ड है और इनमें भी हम पहले स्थान पर है। हमारा जो लाइसेंस नंबर है उसमें आगे तीन जीरो हमारी यूनिक पहचान है लेकिन नकली पैकिंग पर इन तीन जीरो को हटाकर लिखा जा रहा है। ऐसे कई तकनीकी व माइनर डिफरेंस हैं, जिसे कोर्ट में सिद्ध करेंगे।

X
Jaora News - mp news in the files jk rubber was traded in the name of the prestigious brand the fake lpg pipes
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना