--Advertisement--

जानिए, योग कलर मेडिटेशन को

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:21 AM IST

Ratlam News - रतलाम | शरीर में स्थित ऊर्जा चक्र अनियंत्रित हो जाए तो शरीर में कई शारीरिक और भावनात्मक परेशानियां उत्पन्न होने...

Ratlam News - mp news know yoga color meditation
रतलाम | शरीर में स्थित ऊर्जा चक्र अनियंत्रित हो जाए तो शरीर में कई शारीरिक और भावनात्मक परेशानियां उत्पन्न होने लगती है। अलग-अलग रंग विभिन्न शारीरिक और भावनात्मक हिस्से में जुड़े रहते हैं। स्वास्थ्य पर रंगों के प्रभाव के साथ योग को जोड़ दिया जाए तो उसके लाभ और स्पष्ट नजर आएंगे।

लाल-पेट से जुड़ी परेशानी

पीला-कमजोरी, संतुलन व पेट से जुड़ी परेशानियां

नीला- इम्युन सिस्टम, गले की खराश,सीने की जलन

हरा- दबी हुई भावनाओं, मोड को बेहतर बनाना, भूख बडाना, गुस्सा और डिप्रेशन

बैंगनी-गंभीर मानसिक बीमारी से जुडे हुए रोग

गहरा नीला- सिरदर्द, आंखों की परेशानियां, भावनात्मक चिंताओं को दूर करना

अर्ध पर्वतासन

विधि- ध्यान के किसी भी आसन में उक्त रंगों को मन मस्तिष्क में केंद्रित कर लाभ ले सकते हैं। जमीन पर सीधे खड़े हो जाए। श्वास को सामान्य रखते हुए दाहिना पाव बांये पैर की जंघा पर रखे दोनों हाथों से नमस्कार की मुद्रा सीने के सम्मुख रखे। आंखें बंद या खुली रखे, किंतु ध्यान और मन केवल मस्तिष्क पर केंद्रित कर ओम ऊं का मन ही मन उच्चारण कर पसंदीदा या शरीर से जुड़ी परेशानी अनुसार मस्तिष्क में लाए श्वास पर ध्यान केंद्रित करते हुए इस योग क्रिया के लिए गिनती की प्रक्रिया अपनाएं किंतु 7 रंगों के इन्द्र धनुष के कोई भी कलर को चुने ध्यान की इस क्रिया में नारंगी और बैगनी तक पहुंचे। इस प्रकार अगली श्वास प्रक्रिया पर अन्य रंग सोचे।

विशेष-मन, ध्यान पूर्ण रुप से केंद्रित रहे बहुत प्रभारी और लाभकारी क्रिया है।

श्रीमती आशा दुबे, जिला योग प्रभारी

X
Ratlam News - mp news know yoga color meditation
Astrology

Recommended

Click to listen..