• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora News mp news ropani was spoiled due to excess rainfall can not hold stock for long time old onion is consumed new arrivals are low so prices increase

अतिवृष्टि से खराब हो गई थी रोपणी, लंबे समय तक स्टॉक नहीं रोक सकते, पुराना प्याज खप गया, नए की आवक कम, इसलिए बढ़े भाव

Ratlam News - कृषि उपज मंडी अरनियापिथा में मंगलवार को प्याज ऊंचे में 80 रुपए किलो तक बिक गए। व्यापारियों की माने तो पहली बार इतने...

Dec 04, 2019, 09:10 AM IST
Jaora News - mp news ropani was spoiled due to excess rainfall can not hold stock for long time old onion is consumed new arrivals are low so prices increase
कृषि उपज मंडी अरनियापिथा में मंगलवार को प्याज ऊंचे में 80 रुपए किलो तक बिक गए। व्यापारियों की माने तो पहली बार इतने भाव रहे। वर्ष 1998-99 में इसी प्याज की वजह से दिल्ली सरकार में मुख्यमंत्री बदल गए, तब भी इतने भाव नहीं थे। भावों में मौजूदा उछाल के दो मुख्य कारण है। पहला तो यह कि अतिवृष्टि के कारण प्याज की रोपणी खराब हो गई थी। इसलिए ज्यादातर किसान बुआई नहीं कर सके। कुछ अन्य जिलों से लाए तो वह खेती उन्हें महंगी पड़ी। फिर समय पर फसल नहीं लगा सके इसलिए नई फसल में देर हो गई। जो उत्पादन हुआ वह भी पिछले साल के मुकाबले आधे से कम है। दूसरा कारण प्याज का स्टॉक नहीं कर पाना है। प्याज खराब हो जाता है, इसलिए इसे लंबे समय तक स्टॉक में रोक नहीं सकते। यही कारण है कि पुराना प्याज बिक चुका है और नए की आवक कम है। समय पर नया प्याज नहीं आया तो भाव और बढ़ने की संभावना है।

मंडी में अभी 250 कट्‌टे आ रहे हैं।

भाव बढ़ने से किस वर्ग पर क्या असर, ये जानिए इससे जुड़े किसान, व्यापारी व आढ़तियों की जुबानी

किसान की नजर से :- उपलई के शिवनारायण धाकड़ ने बताया बारिश में 5 बीघा में प्याज की फसल लगाना थी लेकिन रोपणी खराब हो गई। बड़वानी जिले से चार बीघे के लिए 1 लाख 20 हजार में रोपणी लाए। 35 मजदूर प्रति बीघे के हिसाब से रोपणी खेत में लगाई। दवाई व मजदूरी समेत 60 हजार रुपए खर्च हो गया। इसमें भी 25 फीसदी रोपणी खराब मौसम के कारण सर्वाइव नहीं कर सकी। इससे जो उत्पादन 80 क्विंटल प्रति बीघा होना चाहिए, वह 35 से 45 क्विंटल प्रति बीघे से भी कम हो गया है। इसके पहले रोपणी खराब होने से जो नुकसान हुआ वह अलग है। आम उपभोक्ता तो अब भाव बढ़ने से परेशान है।

आढ़तिये व सब्जी व्यापारी :- नगर की सब्जी मंडी में मंगलवार को 15 कट्‌टे नए प्याज आए जो 70 रुपए किलो के भाव बिके। पके प्याज महंगे है इसलिए उपभोक्ताओं में पत्ती वाले कच्चे प्याज की मांग बढ़ गई। ये सब्जी मंडी में 15 से 20 रुपए प्रति किलो के थोक भाव में बिक रहे हैं। फुटकर मार्केट में कच्चे प्याज 35 से 50 रुपए किलो मिल रहे हैं। नासिक समेत पूरे देश में इस बार प्याज का उत्पादन कम हुआ और फसलें खराब हो गई। यही भाव बढ़ने के मुख्य कारण है।

मंडी के थोक व्यापारी :- प्याज की आवक मंडी में कम है। मंगलवार को नए प्याज की आवक 250 कट्‌टे रही। पिछले साल इस समय तक 4 हजार कट्‌टे रोज आ रहे थे। प्याज का लंबे समय तक स्टॉक नहीं कर सकते। इसलिए पुराना प्याज खत्म हो गया है। जावरा क्षेत्र में प्याज स्टॉक के लिए कोल्ड स्टोरेज नहीं है। व्यापारी स्टॉक भी क्यों करेगा, क्योंकि 80 रुपए प्रति किलो के उच्चतम भाव हो गए है। अब तो नई फसल आने वाली है। इससे भाव गिरेंगे और जो स्टॉक करेगा उसे नुकसान होगा।

उपभोक्ता की नजर में :- अच्छी क्वालिटी का प्याज तो मार्केट में 100 रुपए किलो तक मिल रहा है। कुछ दिनों से भाव आसमान पर है, इसलिए किचन में उपयोग सीमित कर दिया है। लहसुन-प्याज दोनों की स्थिति यही है। ऐसे में कच्चे पत्ते वाले प्याज खरीदकर काम चला रहे हैं। सामान्य व्यक्ति के लिए प्याज पहुंच से दूर हो गए है। अमित मूंदड़ा ने बताया हालात ये है कि होटलों में भी सलाद में मांगने पर प्याज नहीं दे रहे हैं।

आज से आमजन को थोक भाव में मिलेगा प्याज

जावरा | प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच आम उपभोक्ताओं को फोरी राहत देते हुए प्रशासन ने थोक भाव में प्याज उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की है। उपभोक्ताओं को 20 से 25 रुपए प्रति किलो का फायदा होगा। जावरा में खाचरौद नाका काटजू मंडी प्रांगण इसके लिए निर्धारित किए है।

X
Jaora News - mp news ropani was spoiled due to excess rainfall can not hold stock for long time old onion is consumed new arrivals are low so prices increase
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना