• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • Jaora News mp news secretary grs if we do a survey in local then there will be enmity sdm i am there i will see everything

सचिव-जीआरएस - हम लोकल में सर्वे करेंगे तो दुश्मनी होगी, एसडीएम - मैं हूं ना, सब देख लूंगा

Ratlam News - सरकार ने फर्जी राशन कार्डधारियों की छंटनी के लिए सर्वे के निर्देश तो दे दिए लेकिन सर्वे सही तरीके से शुरू नहीं हो...

Nov 20, 2019, 08:26 AM IST
Jaora News - mp news secretary grs if we do a survey in local then there will be enmity sdm i am there i will see everything
सरकार ने फर्जी राशन कार्डधारियों की छंटनी के लिए सर्वे के निर्देश तो दे दिए लेकिन सर्वे सही तरीके से शुरू नहीं हो पाया है। पहला दिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की अधूरी ट्रेनिंग में निकल गया। दूसरे दिन पंचायत सचिव-जीआरएस ने आकर हाथ खड़े कर दिए। उनका कहना है कि हमें सर्वे दल का प्रभारी बनाया और अपनी ही पंचायत के गांव में सर्वे की डयूटी में लगा दिया। अगर ऐसा करेंगे तो जिनके भी नाम कटेंगे वो हमें गलत कहेंगे। वो हमसे दुश्मनी रखेंगे। बाद में शिकायत करेंगे कि हमने गलत जानकारी दी और उन्हें अपात्र बता दिया। एसडीएम बोले मैं जानता हूं कि आप सब राजनैतिक दबाव के कारण ऐसा कह रहे हैं लेकिन डरे नहीं, मैं हूं ना। सर्वे में किसी तरह की समस्या हो तो मुझे बताना, मैं सब देख लूंगा।

18 नवंबर से फर्जी राशन कार्डधारियों को बाहर करने और वास्तविक गरीबों को पात्र बनाने के लिए सरकार ने सर्वे की मुहिम शुरू की है। शहर व ग्रामीण क्षेत्र के लिए सर्वे दल बनाए हैं और उन्हें ट्रेनिंग भी दी है। सर्वे में प्रभारी स्थानीय व्यक्ति को बनाया है और सहप्रभारी दूसरे को। शहर में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और ग्रामीण में सचिव-जीआरएस। मंगलवार को सचिव-जीआरएस अपनी समस्या लेकर एसडीएम राहुल धोटे के पास पहुंचे। उन्हें बताया कि राशनकार्ड सर्वे में हमें प्रभारी बनाया और हमें अपनी ही पंचायत के गांव दिए हैं। हम सर्वे करने को तैयार है लेकिन प्रभारी किसी और को बनाया जाए या फिर प्रभारियों को दूसरे गांव सर्वे के लिए दिए जाएं। ताकि पात्र-अपात्र के सर्वे में कोई अपात्र भी हो तो स्थानीय काम प्रभावित ना हो और लोगांे में किसी तरह के रंजिश के भाव पैदा ना हो।

सर्वें को लेकर एसडीएम धोटे से चर्चा करते सचिव-जीआरएस।

पूर्व में सचिव-जीआरएस के साथ मारपीट हो चुकी है

बीपीएल राशनकार्ड तहसीलदार व पटवारी द्वारा सत्यापन कर बनाए जाते हैं लेकिन बीपीएल हटाने व राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सत्यापन कार्य में सचिव व जीआरएस को कहाहै। जीआरएस मूलत: स्थानीय निवासी होने के कारण ग्राम पंचायत सचिवों को ही बीपीएल निरस्ती या खाद्य पर्ची निरस्ती का जिम्मेदार ठहराएंगे। पूर्व में भी अनुचित लाभ नहीं मिलने के कारण ग्राम पंचायत सचिवों व जीआरएस के साथ मारपीट व उनके परिवारों के साथ अभद्र व्यवहार हो चुका है।

विरोध झेलना पड़ेगा

हर कोई व्यक्ति अपना बीपीएल राशनकार्ड बनवाना चाहता है। इसके लिए राजनैतिक हस्तक्षेप का आरोप लगता है। अब राशनकार्ड निरस्ती के सर्वे में सचिव-जीआरएस को जिम्मेदारी दी है। ये निर्देश भी मिले है कि गलत सर्वे व जानकारी भरने पर वे ही जिम्मेदार होंगे। राजनीतिक दबाव व विरोध झेलना पड़ेगा।

काम आपको ही करना है

समस्या सुनने के बाद एसडीएम राहुल धोटे ने कहा सर्वे की जवाबदारी आपको मिली है। मैं डयूटी नहीं बदल सकता हूं। पटवारी आपके साथ नहीं आ सकते, क्योंकि सिटी में उनकी डयूटी है। आप पर राजनीतिक दबाव हो सकता है, लेकिन डरे नहीं।

X
Jaora News - mp news secretary grs if we do a survey in local then there will be enmity sdm i am there i will see everything
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना