पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिव का परिवार बताता है कि परिवार के सभी सदस्य समान हैं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जब भगवान शिव शंकर की कृपा होती है तभी आना होता है। जब शिव शंकर की कृपा जीव को प्राप्त होती हैं, तो उसका जीवन कल्याणमय होता है और भगवान शिव उसके सारे दुख हर लेते हैं। इस संसार में जन्म लेने वाले मनुष्य हो या जीव हो उसे अपने कल्याण हेतु भगवान शिव शंकर की शरण में जाना चाहिए।

यह बात संत हेमंत कश्यप ने बाजना बस स्टैंड स्थित जगदीश भवन में चल रही संगीतमय शिवपुराण कथा में कही। उन्होंने कहा इस संसार में चाहे मनुष्य या जीव की योनी में जन्म लिया हो। हमें शिव आराधना जरूर करना चाहिए। भगवान शिव के विवाह के बाद शिव पंचायत की स्थापना की गई। भगवान, माता पार्वती, नंदी, कार्तिक, विघ्नहर्ता गणेश और समस्त गृहस्थी को संदेश देते हैं कि भगवान भी जैसे शिव पंचायत में सभी सदस्य आपस में मिल जुलकर रहते हैं इसी प्रकार सभी को संसार में मिलकर रहना चाहिए। शिवपुराण कथा के दौरान सुषमा स्वराज के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। मुख्य अतिथि महेश घोटा, पूनम घोटा सहित कारिया, फतेहाबाद, इंदौर से आए अतिथियों ने पोथी पूजन किया। श्री टेकेश्वर महादेव मंदिर समिति संचालक चिंतामण बहादर, मांगीलाल बहादर, प्रवीण वाघेला, बद्रीलाल देवड़ा व महिला मंडल सोहनबाई, रानी व्यास, ममता बहादर सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

शिव-पुराण

बाजना बस स्टैंड स्थित जगदीश भवन में चल रही कथा में आरती करते हुए श्रद्धालु।

खबरें और भी हैं...