--Advertisement--

खुलासा / बेटे ने ही पिता के सिर में फावड़ा मारकर की थी हत्या, शव छिपाने में मां ने की मदद



neemach murder son killed father and mother helped son to hide dead body
X
neemach murder son killed father and mother helped son to hide dead body

  • सिंगोली के बरड़ावदा के खेत में मिला था शव, मां-बेटे सहित तीन गिरफ्तार

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 10:20 AM IST

सिंगोली/नीमच. थाना क्षेत्र के बरड़ावदा के एक खेत में 16 दिन पहले संदिग्ध हालत किसान का शव मिला था। पुलिस ने इसे अंधा कत्ल मानते हुए जांच शुरू की। इसमें मृतक का बेटा ही हत्यारा निकाला तथा शव को छिपाने में मृतक की पत्नी में मदद की। हत्या करने का कारण बाप-बेटे में हुआ विवाद था। टीवी सीरियल सीआईडी के एक एपिसोड से प्रेरित होकर वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने मां-बेटे तथा एक अन्य सहयोगी को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से कुल्हाड़ी, फावड़ा, रस्सी व मोबाइल बरामद कर लिया है।

 

एसडीओपी टीसी पंवार ने पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि 19 नवंबर को बरड़ावदा निवासी कन्हैयालाल पिता जगन्नाथ धाकड़ (55) का शव खेत पर कपास की फसल के बीच मिला था। मृतक सिर में बांयी कनपटी, दांयीं आंख की भौंह के ऊपर चोंट से हड्डी टूटी हुई थी तथा दोनों पैर में चोंट के निशान थे।

पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू की। इसमें पता चला कि मृतक 15 नवंबर को सुबह 7 बजे से लापता था। इसके बावजूद पत्नी व बेटे ने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज नहीं करवाई। इसी को आधार बनाकर जांच आगे बढ़ाई और आस-पड़ोस के लोगों से बयान लिए। मृतक के इकलौते बेटे लाभचंद्र धाकड़ (28) को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने पिता की हत्या करना कबूल कर लिया। शव छिपाने में मृतक की पत्नी में भी बेटी की मदद की। इसमें एक अन्य व्यक्ति ने भी सहयोग किया।


हत्या के बाद शव को दिनभर घर में ही रखा था : एसडीओपी पंवार ने बताया मृतक के बेटे लाभचंद्र ने पूछताछ में बताया कि वारदात वाले दिन 15 नवंबर को उसका पिता से विवाद हो गया था। वह सीआईडी सीरियल देखता था। उसी से प्रेरित होकर पिता की हत्या की साजिश रची और घर पर ही पिता के सिर में फावड़ा मार दिया। इससे उनकी मौत हो गई। लोगों को शंका नहीं हो इसलिए दिनभर शव घर में रखा। हत्या के साक्ष्य छिपाने के लिए रात में मां की मदद से शव को टैम्पो में रखकर अपने साथी चुन्नीलाल पिता भुवाना गुर्जर को साथ लेकर खेत पर पहुंचा। वहां शव को कुएं में डाल दिया।


शव पर कपास के पत्ते रखे : लाभचंद्र व उसके साथी चुन्नीलाल दूसरे दिन खेत पर पहुंचे तो कुएं में शव तैरता मिला। लोगों को शंका नहीं हो इसलिए दोनों ने कुएं से शव को रस्सी से बांधकर निकाला तथा कपास के खेत में ले गए। बेटे ने कुल्हाड़ी से पैर काटकर अलग रख दिया व शव को जानवर नहीं खाए इसलिए गले में रस्सी का फंदा डालकर शव पर कपास के पत्ते बांध दिए थे।

हत्या में उपयोग हथियार जब्त : पुलिस ने मृतक के बेटे लाभचंद्र उर्फ लाभु उसकी मां कंचनबाई (52) तथा सहयोगी चुन्नीलाल गुर्जर (30) को गिरफ्तार कर लिया। तीनों ने वारदात करना स्वीकार किया। इनकी निशानदेही पर हत्या में उपयोग किए कुल्हाड़ी, फावड़ा, रस्सी, मोबाइल जब्त कर लिए हैं। इनसे पूछताछ की जा रही है।
 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..