पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Neemuch: Cleanliness Should Be Done In British Cemetery Premises, Historical Heritage Will Be Decorated

अंग्रेजों के कब्रिस्तान परिसर में हो साफ-सफाई, एेतिहासिक धरोहर को संवारा जाएगा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • कोटा हेरिटेज सोसायटी के सदस्य बोले-स्थानीय संस्था कमान संभाले
  • जिला प्रशासन की देखरेख में हो कार्य

नीमच.  शहर के विकास नगर में अंग्रेजों का कब्रिस्तान है। जहां अंग्रेज सैन्य अफसरों व उनके परिजन की कब्रें हैं। सालों से सफाई नहीं होने से यहां झाड़ियां उग आई हैं लेकिन अब इसकी साफ-सफाई की जा रही है। यह कार्य कोटा हेरिटेज सोसायटी के सदस्य स्थानीय लोगों व नपा की मदद से करवाई जा रही है। इसमें सीआरपीएफ के रिटायर्ड एडीजी जसबीरसिंह गिल मदद कर रहे हैं। बुधवार को सदस्य कलेक्टोरेट पहुंचे जहां एडीएम विनयकुमार धोका से मिले और उनके साथ कब्रिस्तान पहुंचे और निरीक्षण किया।

विकास नगर में अंग्रेजों का कब्रिस्तान है। जहां अंग्रेज सैन्य अफसरों व परिजन की कब्रें हैं। देश आजाद होने के बाद सीआरपीएफ का गठन हुआ और यह कब्रिस्तान सीआरपीएफ की संपत्ति में शामिल हो गया। तभी से सीआरपीएफ के अंडर में ही है और वही देखभाल भी करता है। दो दिन पहले सीआरपीएफ से रिटायर्ड एडिशनल डायरेक्टर जनरल जसबीरसिंह गिल के साथ कोटा निवासी विक्टाेरिया सिंह और लंदन निवासी सुजी हाेसले दोनों ही कोटा हेरिटेज सोसायटी सदस्य हैं व हेरिटेज स्थलों के संरक्षण में कार्य करती हैं। 

तीनों पहले सीआरपीएफ के अधिकारियों से मिले। फिर नपाध्यक्ष राकेश जैन से मिले और अंग्रेजों के कब्रिस्तान की साफ-सफाई में मदद को कहा। वे कलेेक्टर अजयसिंह गंगवार से मिलने पहुंचे लेकिन वे नहीं मिले तो एडीएम विनयकुमार धोका से मिले व मंशा जाहिर की। पश्चात एडीएम धोका, डूडा अधिकारी एस.कुमार, नपा के प्रभारी सीएमओ विश्वास शर्मा के साथ अंग्रेजों के कब्रिस्तान पहुंचे। जहां सफाई कार्य देखा। एडीएम धोका ने बताया पहली बार वे यहां पहुंचे तो लगा सफाई की जरूरत है।

यह नीमच की एक एेतिहासिक धरोहर है। इसे संवारने और संरक्षित रखने के कार्य में जो भी सीनियर सिटीजन, स्वयंसेवी या इस क्षेत्र में कार्य करने वाली संस्था रुचि रखती हैं। वे भी आए तो हम उनके साथ काम करने के लिए तैयार हैं। जसबीरसिंह गिल, रिटायर्ड एडीजी सीआरपीएफ नीमच

खबरें और भी हैं...