आरोप / शक्ति, बना अंकल करते थे गलत हरकत, शक्ति बोले- राजनीति से जुड़े हैं, लोग फायदा उठाने की कर रहे कोशिश



शक्तिशरण सिंह पर लगाए आरोप। शक्तिशरण सिंह पर लगाए आरोप।
X
शक्तिशरण सिंह पर लगाए आरोप।शक्तिशरण सिंह पर लगाए आरोप।

  • जावरा के कुंदन कुटीर बालिका गृह वायरल वीडियो में लड़की ने लगाया आरोप
  • पुलिस ने वीडियो को भी जांच में शामिल किया
     

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 10:58 AM IST

रतलाम. जावरा के कुंदन कुटीर मामले में सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो ने राजनीति के गलियारों से लेकर प्रशासनिक महकमे तक में हड़कंप मचा दिया। वीडियो में बालिका गृह में रह चुकी एक लड़की ने पूर्व कृषि मंत्री महेंद्रसिंह व विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी रहे केके सिंह के भानजे शक्तिशरण सिंह पर आरोप लगाया कि वे उसके निजी अंग पर हाथ फेरते थे। शक्तिशरण सिंह का कहना है रचना से दो साल से कोई संबंध नहीं है। वे राजनीति से जुड़े हैं इसलिए लोग फायदा उठाने की कोशिश हो रही है।

 

शक्तिसिंह बोले- रचना से पारिवारिक संबंध थे दो साल से आना-जाना बंद है : शक्तिशरण सिंह ने भास्कर से कहा पहले मेरा इनसे पारिवारिक संबंध था, लेकिन दो साल से आना जाना बंद था। एनजीओ बनाया था उस वक्त संस्था में मेरा नाम था लेकिन 2015 के बाद मैंने कोई साइन तक नहीं किए। इनसे मेरा संपर्क ही नहीं था। मैं घर परिवार वाला आदमी हूं ऐसा कैसे कर सकता हूं। पहले तो बीजेपी के लोग जुड़े हुए थे। मेरा इंवोल्वमेंट कहां से होगा। 15 दिन बाद यह बात कहां से आ रही है। मैं हमेशा कहता था कि बारूद के ढेर पर बैठे हो तुम। कोई भी तुम पर इल्जाम लगा देगा तो क्या कर लोगे तुम। यह ब्लैकमेलिंग के लिए है। राजनीति से जुड़े हैं तो फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस जांच करें।

 

 

लड़की ने लगाए गंभीर आरोप।

रचना मां छोटे कपड़े पहन दादू बना को करती थी वीडियो कॉल- एफआईआर का अंश : जिस लड़की का वीडियाे आया है उसका एफआईआर में जिक्र है। एसडीएम ने जांच प्रतिवेदन के आधार पर दर्ज एफआईआर में लड़की ने बयान में बताया रचना मां खराब है। शराब पीकर बच्चों को मारती है। रचना के पति ओमप्रकाश के एक लड़की के साथ संबंध भी बने। एक बार तो ओमप्रकाश को आपत्तिजनक स्थिति में देखा था। रचना मां उससे शराब के पैग बनवाती थी व अंत: वस्त्र धुलवाती थी। लड़की ने रचना मां के दादू बना के साथ अफेयर की बात कही। इसमें बताया कि रचना छोटे-छोटे कपड़े पहनकर दादू बना से वीडियो कॉलिंग करती थी। कैमरों पर कपड़ा डालकर बच्चों को मारती है। पीरियड के समय लड़कियों को सेनेटरी पैड की जगह कपड़ा देते थे।

 

वीडियो काे हमने संज्ञान में लिया है। जो तथ्य सामने आएंगे, कार्रवाई की जाएगी। किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा चाहे वह कितना भी प्रभावशाली हो। अब तक बालिका गृह में रह चुकीं 150 बालिकाओं के बयान हो चुके हैं। जिनमें छेड़छाड़ की बात सामने आई है।

गाैरव तिवारी, एसपी, रतलाम


 

COMMENT