• Hindi News
  • Mp
  • Ratlam
  • Samples of Rajnigandha gutkha fail, investigation found magnesium carbonate, it causes mouth cancer

कार्रवाई / रजनीगंधा गुटखे के सैंपल फेल, जांच में मैग्निशियम काॅर्बोनेट मिला पाया, इससे हाेता है मुंह का कैंसर

सैंपलिंग के दौरान सामग्री की जांच करते खाद्य निरीक्षक। सैंपलिंग के दौरान सामग्री की जांच करते खाद्य निरीक्षक।
X
सैंपलिंग के दौरान सामग्री की जांच करते खाद्य निरीक्षक।सैंपलिंग के दौरान सामग्री की जांच करते खाद्य निरीक्षक।

  • खाद्य एवं औषधि विभाग को लैब से मिली रिपोर्ट, करोड़ों के टर्न ओवर वाले डीसी ग्रुप पर प्रकरण दर्ज करने की तैयारी
  • अमूल घी और मिल्क पाउडर के सैंपल लिए,रिटेलर से लेकर कंपनी मालिक तक पर होगी एफआईआर

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2020, 11:48 AM IST

नीमच.पिछले दिनों खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा रोडवेज बस स्टैंड स्थित आदर्श इंटरप्राइजेस पर छापामार कार्रवाई कर देश की सबसे बड़ी डीसी ग्रुप कंपनी के रजनीगंधा पान मसाला पाउच के चार सैंपल लिए थे। जो भोपाल लैब की जांच में खराब व मिथ्याछाप वाले निकले। अब विभाग निर्माता व विक्रेताओं के खिलाफ एफआईआर के साथ अगली कार्रवाई करेगा।
मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि भोपाल लैब से मंगलवार शाम को चार सैंपल की जांच रिपोर्ट मिली। जो बड़ी चौकाने वाली है।

24 सितंबर 2019 को आदर्श इंटर प्राइजेस के संचालक मुकेश पिता अशोक कुमार राजेश्वरी के यहां से देश में करोडों का टर्नओवर करने वाली डीएस ग्रुप का रजनीगंधा पान मसाला के सैंपल लिए थे। जो फेल हो गए। इसमें प्रतिबंध के बाद भी 2.674 प्रतिशत मैग्निशियम काॅर्बोनेट मिला। जो मुंह के कैंसर आदि खतरनाक बीमारियों का कारक है। कंपनी इसका उपयोग इसलिए करती की गुटखा लाल नहीं हो और नमी नहीं खींचे। यह मानव शरीर के लिए काफी घातक होता है। सैंपल फेल होने पर अब रिटेलर से लेकर कंपनी मालिक तक जुड़े सभी लोगों को आरोपी बनाया जाएगा।


इसी तरह 26 जुलाई को सीआरपीएफ रोड स्थित गोपाल डेयरी के संचालक ब्रजेश पिता कृष्ण गोपाल नेमा से दूध का नमूना लिया गया था। इसमें रिपोर्ट में फेट और एसएनएफ की मात्रा कम होने से अवमानक पाया गया है। 19 अगस्त 2019 को कंचन श्री वाटर बाटलिंग प्लांट कनावटी पर छापामार कार्रवाई कर 44 हजार पानी के पाउच और बोतले जब्त की गई थी। रिपोर्ट में दोनों खराब निकले है। जब्त किया पूरा स्टाॅक नष्ट किया जाएगा। इसके लिए संचालक खुद आवेदन भी दे चुका है। 7 सितंबर 2019 को न्यू सीजन सम्राट दशहरा मैदान के संचालक भगवानलाल समरथमल जायसवाल के यहां से मेसर्स गोवर्धनलाल एंड संस का बेसन का नमूना लिया गया था। वह भी जांच में फेल निकला। इन सभी विक्रेता व निर्माता का पता करके उनके खिलाफ अधिनियम के तहत विधिवत कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।

इधर मंडी व्यापारियों को कार्यशाला में बताए नियम
मंगलवार को अभियान के तहत कृषि उपज मंडी एक कार्यशाला हुई। इसमें मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी मिश्रा ने मंडी व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियमों की जानकारी दी गई। व्यापारियों ने उनकी समस्या सुनाई और सवाल पूछे। जिनका मिश्रा ने जवाब दिया। व्यापारियों ने कहा सामान्य माल का सैंपल फेल होता है तो कैसे व्यापार करेंगे। कुछ व्यापारियों में मेघदूत ट्रेडिंग पर हुई कार्रवाई को लेकर आक्रोश जताया। मिश्रा ने कहा कि जबरन किसी को परेशान नहीं किया जा रहा है। पहले गड़बड़ी की पुष्टि करते है फिर कार्रवाई की जाती है। अगर हम कोई वस्तु यहां उत्पादन कर रहे तो उसका लाइसेंस लेकर विधिवत लेबल लगाओ और नियम का पालन करो।

खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा मंगलवार को शहर में नीरज गट्‌टानी की मेसर्स सुविधा एजेंसी पर छापा मारा। जांच के दौरान यहां से खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजू सोलंकी ने अमूल घी और मिल्क पाउडर के सैंपल िलए। जो जांच के लिए भोपाल स्थित लैब में भेजे जा रहे हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी। सोलंकी ने बताया मिलावटी खाद्य पदार्थ की बिक्री, निर्माण मामले में कार्रवाई कर सैंपलिंग की जा रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना