--Advertisement--

एसी-एसटी एक्ट का विरोध / करणी सेना ने सिंधिया के काफिले को रोक दिखाए काले झंड़े, लगाए मुर्दाबाद के नारे



करणी सेना ने सिंधिया के काफिले काे रोका। करणी सेना ने सिंधिया के काफिले काे रोका।
X
करणी सेना ने सिंधिया के काफिले काे रोका।करणी सेना ने सिंधिया के काफिले काे रोका।

नागदा से जावरा जाते समय टोल नाके के पास करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने विरोध किया

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 03:17 PM IST

रतलाम. मप्र में एसी-एसटी का विरोध लगातार जारी है। कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों के नेताओं को विरोध का सामना करना पड़ रहा है। मंगलवार को पूर्व मंत्री स्व. महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के प्रथम पुण्य स्मरण में शामिल हाेने जा रहे मप्र कांग्रेस चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को विरोध का सामना करना पड़ा। करणी सेना ने उनके काफिले को रोककर काले झंडे दिखाए और मुर्दाबाद के नारे लगाए। सिंधिया को कार्यकर्ताओं ने जद्दोजहद के बाद यहां से रवाना किया।

 

मिली जानकारी अनुसार सिंधिया मंगलवार को पूर्व मंत्री स्व. महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के प्रथम पुण्य स्मरण में शामिल होने नागदा से जावरा के लिए रवाना हुए थे। रतलाम के आगे टोल के पास जैसे ही उनका काफिला पहुंचा, यहां सैकड़ों की संख्या में सड़क किनारे खड़े करणी सेना के कार्यकर्ताअों ने मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। टोल के पास जैसे ही कार की स्पीड कम हुई, कार्यकर्ताओं ने सिंधिया की गाड़ी को घेर लिया और काले झंडे   दिखाते हुए कांग्रेस पार्टी मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। करणी सेना के विरोध को देखते हुए कांग्रेसी कार्यकर्ता सिंधिया के काफिले को निकालने में जुट गए। कुछ देर की जद्दोजहद के बाद जैसे-तैसे काफिले को वहां से रवाना किया गया। करणी सेना का कहना था कि दोनों ही पार्टियां हमारे अधिकार को छीनने की कोशिश कर रही हैं, हम ऐसा नहीं होने देंगे, हमारा विरोध लगातार जारी रहेगा।

 

कालूखेड़ा की मूर्ति का अनावरण किया

सिंधिया ने नागदा के रास्ते जावरा पहुंचे और मुख्य चौराहे पर पूर्व मंत्री स्वर्गीय महेंद्रसिंह कालूखेड़ा की मूर्ति के अनावरण के बाद कालूखेड़ा उपमंडी प्रांगण में सभा को संबोधित किया। इस दौरान सिंधिया ने देश और प्रदेश की भाजपा सरकार को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों के चलते ही पेट्रोल के भाव आसमान छू रहे हैं। सरकार जनता को राहत देने की कोई कोशिश नहीं कर रही है। इस दौरान उन्होंने स्वर्गीय महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के जीवन आदर्शों पर लिखी गई पुस्तक का विमोचन भी किया। इस मौके पर रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने रक्तदान किया।  

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..