Hindi News »Madhya Pradesh »Rau» ब्राजील-उरुग्वे ने जीते 100% मुकाबले; लुकाकू ने दागे सर्वाधिक 5 गोल, रूस को नहीं मिली जीत

ब्राजील-उरुग्वे ने जीते 100% मुकाबले; लुकाकू ने दागे सर्वाधिक 5 गोल, रूस को नहीं मिली जीत

फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत गुरुवार से होने जा रही है। क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के बाद सभी टीमों को फ्रेंडली मैच खेले।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 04:45 AM IST

ब्राजील-उरुग्वे ने जीते 100% मुकाबले; लुकाकू ने दागे सर्वाधिक 5 गोल, रूस को नहीं मिली जीत
फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत गुरुवार से होने जा रही है। क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के बाद सभी टीमों को फ्रेंडली मैच खेले। एक टीम ने कम से तीन और अधिकम आठ मैच खेले। पांच बार के वर्ल्ड चैंपियन ब्राजील और उरुग्वे ने कोई भी मैच नहीं गंवाया। वहीं मेजबान रूस, आइसलैंड और मिस्र एक भी मुकाबला नहीं जीत सके। टूर्नामेंट में खेल रहीं 32 टीमों से 11 टीमें अधिकतम एक ही मैच जीत सकीं। बेल्जियम के स्टार खिलाड़ी लुकाकू ने सर्वाधिक पांच गोल दागे। अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी ने तीन और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने दो गोल दागे। इस दौरान कुल 149 मैचों में 350 गोल पड़े। यानि हर मैच में औसत 2.34 गोल। यह औसत अगर 21वें वर्ल्ड कप में भी रहा तो टूर्नामेंट में कुल 150 गोल होंगे। यानि पिछले वर्ल्ड कप से 21 गोल कम।

इंटरेस्टिंग

ब्रिटेन ने 1200 लोगों को रूस जाने से रोका

32 में से 11 टीमें केवल एक ही मैच जीत सकी हैं

लुकाकू नंबर-1,मेसी, इस्को के नाम तीन गोल

क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के चार मैच में बेल्जियम के लुकाकू ने सर्वाधिक पांच गोल दागे। पोलैंड के लेवांडोवस्की चार गोल के साथ दूसरे नंबर पर रहे। इसके अलावा फ्रांस के एमबापे और स्पेन के इस्को ने तीन-तीन गोल किए। उरुग्वे के सुआरेज-कवानी, स्पेन के एस्पस, फ्रांस के गिराउड, ब्राजील के नेमार और रोनाल्डो-गुडेस ने दो-दो गोल किए।

ब्राजील के खिलाफ सभी चार टीमें नहीं कर सकीं गोल

ब्राजील ने चार मुकाबलों में 9 गोल किए। जर्मनी सहित अन्य कोई भी टीम उसके खिलाफ गोल नहीं कर सकीं। बेल्जियम और फ्रांस ने सबसे ज्यादा 11-11 गोल किए। पेरू और स्विट्जरलैंड ने 10-10 गोल किए। पहली बार वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में उतर रही पनामा की टीम ने सबसे कम एक गोल किए।

ब्रिटेन ने अपने 1200 नागरिकों को फीफा वर्ल्ड कप के लिए रूस जाने की इजाजत नहीं दी है। इन सभी पर मैच के दौरान हुड़दंग मचाने आैर उत्पात करने का आरोप है। ब्रिटेन की सरकार ने पुलिस के साथ मिलकर इन हुड़दंगियों की पहचान की थी।

ऑस्ट्रेलिया के डेनियल अरजानी (19 साल) टूर्नामेंट के सबसे युवा और मिस्र के गोलकीपर एसाम अल हेदरी (45) सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं।

मौजूदा चैंपियन जर्मनी को मिली एक ही जीत

मौजूदा चैंपियन जर्मनी की टीम चार में से केवल ही एक मुकाबला जीत सकी। टीम ने दो मुकाबले हारे जबकि एक मैच ड्रॉ रहा। टीम को ब्राजील और ऑस्ट्रिया से हार मिली। स्पेन से उसका मुकाबला बराबरी पर छूटा। टीम ने ऑस्ट्रिया के खिलाफ स्टार खिलाड़ियों म्युलर, हमल्स और टोनी क्रूज सहित कई स्टार खिलाड़ियों को नहीं उतारा था।

दो ही टीम के 200 या उससे अधिक गोल

वर्ल्ड कप की बात करें तो जर्मनी ने 106 मैचों में सर्वाधिक 224 गोल किए हैं। ब्राजील ने 221 गोल दागे हैं। इनके अलावा कोई टीम 200 गोल का आंकड़ा नहीं छू सकी हैं। अर्जेंटीना ने 131, इटली ने 128 और फ्रांस ने 106 गोल किए हैं।

वर्ल्ड कप में कमबैक करने वाली तीन प्रमुख टीमें पेरू: 36 साल के बाद पहली बार वर्ल्ड कप खेलेगा। पांचवीं बार क्वालिफाई किया।

मिस्र: 28 साल बाद वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई। तीसरा वर्ल्ड कप खेलेगा।

मोरक्को: 20 साल बाद वर्ल्ड कप खेलेगा। यह उसका चौथा वर्ल्ड कप होगा।

ईरान की फुटबॉल टीम को वर्ल्ड कप के लिए जूते ही नहीं दिए

मॉस्को | स्पोर्ट्सवियर बनाने वाली कंपनी नाइकी ने ईरान की फुटबॉल टीम के जूते बेचने से इनकार कर दिया है। अमेरिकी कंपनी ने कहा, "अमेरिका ने ईरान पर प्रतिबंध लगा रखे हैं। ऐसे में अमेरिकी कंपनी होने के नाते हम ईरान की राष्ट्रीय फुटबाॅल टीम को जूतों की सप्लाई नहीं कर सकते हैं।' ईरान के मुख्य कोच कार्लाेस क्वीरोज ने नाइकी का प्रतिबंध के बारे में बयान उचित नहीं है। उसे ईरान की टीम से माफी मांगनी चाहिए। फीफा को भी ईरान की मदद के लिए हस्तक्षेप करना चाहिए।

अर्जेंटीना में टीवी न चलने पर कैदियों ने भूख हड़ताल की

ब्यूनस आयर्स | अर्जेेंटीना की एक जेल में टीवी न चलने पर कैदी भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। कैदी चाहते हैं कि जेल के टीवी केबल सिस्टम को तुरंत ‍ठीक किया जाए, ताकि वे वर्ल्ड कप के मैच देख सकें। प्यूर्टो मार्डिन जेल के नौ कैदियों ने एक बयान में कहा कि केबल टेलीविजन कैदियों का अधिकार है। हमारे जेल में केबल तीन दिन से नहीं चल रहा है। जब तक इसे ठीक नहीं किया जाता, तब तक हम भूख हड़ताल पर रहेंगे। इन कैदियों ने केस भी दायर किया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rau

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×