Hindi News »Madhya Pradesh »Rau» 5 बार से बदल रहा चैंपियन, इस बार 8 दावेदार

5 बार से बदल रहा चैंपियन, इस बार 8 दावेदार

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 04:50 AM IST

  • 5 बार से बदल रहा चैंपियन, इस बार 8 दावेदार
    +1और स्लाइड देखें
    8 ग्रुप में से 16 टीमंे प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंचेंगी



    जैसे -जैसे वर्ल्ड कप करीब आ रहा है। वैसे-वैसे फैंस के मन में एक सवाल तेजी से उभर रहा है कि इस बार का चैंपियन कौन? पूर्व फुटबॉलर से लेकर तमाम एनालिस्ट ग्रुप अपने-अपने अनुमान जारी कर रहे हैं। ज्यादातर लोग ब्राजील और जर्मनी को सबसे बड़े दावेदार मान रहे हैं। इसके बाद अर्जेंटीना और फ्रांस का नंबर है। बेल्जियम, स्पेन, पुर्तगाल और इंग्लैंड को भी क्वार्टर फाइनल तक का दावेदार माना जा रहा है। फीफा, गोल डॉट कॉम, द टेलीग्राफ, द गार्डियन और सीआईईएस वेबसाइट ने सभी टीमों के वर्ल्ड कप रिकॉर्ड, उनके एक साल के प्रदर्शन, रैंकिंग और उनकी ताकत के आधार पर विश्लेषण किया है। मैनचेस्टर यूनाइटेड के कोच जोस मॉरिन्हो, कोलंबिया के फॉरवर्ड जेम्स रोड्रिग्ज, भारतीय कप्तान सुनील छेत्री ने भी अपने अनुमान जारी किए हैं। हालांकि, ब्राजील के दिग्गज पेले अपने ही देश को दावेदार नहीं मानते। उन्होंने कहा कि ब्राजील की टीम संतुलित नहीं लग रही है। इन सबके िवश्लेषण के आधार पर 8 ग्रुप से ये 16 टीमें प्री-क्वार्टर में पहुंच सकती हैं। इन 16 टीमों से ही 8 टीमें अंतिम क्वार्टर फाइनल में खेलेंगी।

    अब तक सिर्फ 12 टीमें ही पहुंच सकी हैं फाइनल में

    24 टीमें ही पहुंच सकी हैं टॉप-4 में। इनमें से सिर्फ 12 टीमें फाइनल खेली हैं और 8 चैंपियन बनी हैं।

    13 बार टॉप-4 में पहुंची है मौजूदा चैंपियन जर्मनी की टीम। उसने इनमें से 12 बार टॉप-3 में जगह बनाई है।

    8 बार जर्मनी और 7 बार ब्राजील फाइनल में पहुंचा। इटली 6 और अर्जेंटीना ने 5 बार ऐसा किया। ब्राजील के नाम 5 खिताब हैं।

    24 टीमें ही पहुंच सकी हैं टॉप-4 में। इनमें से सिर्फ 12 टीमें फाइनल खेली हैं और 8 चैंपियन बनी हैं।

    13 बार टॉप-4 में पहुंची है मौजूदा चैंपियन जर्मनी की टीम। उसने इनमें से 12 बार टॉप-3 में जगह बनाई है।

    8 बार जर्मनी और 7 बार ब्राजील फाइनल में पहुंचा। इटली 6 और अर्जेंटीना ने 5 बार ऐसा किया। ब्राजील के नाम 5 खिताब हैं।

    

    वर्ल्ड कप से पहले नए चैंपियन की भविष्यवाणी का दौर जारी है। पर यह इतना आसान नहीं है। पिछले 5 वर्ल्ड कप में हर बार नया चैंपियन मिला है। इस बार भी खिताब जीतने के कम से कम 8 दावेदार हैं।

    ग्रुप-Aउरुग्वे और मिस्र

    रैंकिंगउरुग्वे 14वें और मिस्र 45वें नंबर की टीमें हैं। मेजबान रूस 70वें और सऊदी अरब 67वें नंबर पर है।

    फॉर्मदो बार चैंपियन रह चुके उरुग्वे ने क्वालिफाइंग राउंड में 18 में से नौ मैच जीतेे। जबकि मिस्र ने 7 में से 5 मैच जीते। उसने पिछले 5 फ्रेंडली मैचों में दो ड्रॉ खेले और 3 हारे। पर ये सभी मैच ऊंची रैंकिंग वाली टीमों से थे।

    ब्राजील ने रविवार को फ्रेंडली मैच में ऑस्ट्रिया को 3-0 से हराया। नेमार ने 1 गोल किया। चोट से वापसी कर रहे नेमार का कहना है कि वे 80% ही फिट हैं।

    ग्रुप-E5 बार के चैंपियन ब्राजील-स्विट्जरलैंड पहुंचेंगे

    रैंकिंगब्राजील दूसरे और स्विट्जरलैंड छठे नंबर पर हैं। कोस्टा रिका 23वें और सर्बिया 34वें नंबर पर है।

    फॉर्मक्वालिफाइंग राउंड में ब्राजील ने 12 मैच जीतेे। टीम ने अपने चारों फ्रेंडली मैच जीते। स्विट्जरलैंड ने 9 मैच जीते। टीम ने तीन फ्रेंडली मैच जीते, एक ड्रॉ रहा।

    ग्रुप-ई 1881 अंक के साथ सबसे कठिन; स्विट्जरलैंड, सर्बिया, ब्राजील हैं ग्रुप में

    वर्ल्ड कप में हर बार कम से कम एक "ग्रुप आॅफ डेथ' होता है। यानी, उस ग्रुप में तीन या सभी चारों टीमें प्री क्वार्टर फाइनल की दावेदार होती हैं। 2014 में एक नहीं, बल्कि दो "ग्रुप ऑफ डेथ' माने गए थे। ये ग्रुप बी (स्पेन, नीदरलैंड, चिली, ऑस्ट्रेलिया) और ग्रुप डी (इंग्लैंड, इटली, उरुग्वे, कोस्टा रिका) थे। इस बार वर्ल्ड फुटबाॅल ELO रेटिंग के अनुसार, ग्रुप ई "ग्रुप ऑफ डेथ' है। इसमें ब्राजील, स्विट्जरलैंड, सर्बिया, कोस्टा रिका हैं। वर्ल्ड फुटबाॅल ELO ने इस ग्रुप को 1881 रेटिंग अंक देकर सबसे कठिन ग्रुप माना है। ग्रुप बी (स्पेन, पुर्तगाल, ईरान, मोरक्को) 1879 रेटिंग अंक के साथ दूसरे नंबर पर है।

    ग्रुप-Bस्पेन और पुर्तगाल

    रैंकिंगस्पेन 10वां और पुर्तगाल चौथे नंबर पर हैं। जबकि, ईरान 37वें और मोरक्को 41वें नंबर पर है।

    फॉर्मस्पेन ने क्वालिफाइंग में ग्रुप सी में 10 मैच खेले और 9 जीते। इस साल 5 फ्रेंडली मैच में से 2 जीते और एक हारा। पुर्तगाल ने क्वालिफाइंग राउंड में 10 मैच खेले और 9 जीते। 5 फ्रेंडली मैच में से 2 जीते और सिर्फ एक हारा।

    ग्रुप-Fजर्मनी और मैक्सिको

    रैंकिंगजर्मनी नंबर-1 पर है। मैक्सिको 15वें, स्वीडन 24वें और द. कोरिया 57वें नंबर पर है।

    फॉर्मक्वालिफाइंग राउंड में जर्मनी एक भी मुकाबल नहीं हारा और सभी 10 मैच जीते। टीम ने कुल 43 गोल किए। फ्रेंडली मैच में टीम ने एक मैच जीता, जबकि मैच गंवा दिए। मैक्सिको ने छह मैच जीते और तीन ड्रॉ खेले। 3 फ्रेंडली मैच जीते, दो में हारा।

    ग्रुप-Cफ्रांस और डेनमार्क

    रैंकिंगफ्रांस सातवें और डेनमार्क 12वें नंबर पर हैं। पेरू 11वें और ऑस्ट्रेलिया 36वें नंबर पर है।

    फॉर्मफ्रांस ने क्वालिफाइंग में 10 मैच खेले और 7 जीते। इस साल 5 फ्रेंडली मैच में से 3 जीते और 1 हारा। डेनमार्क ने क्वालिफाइंग राउंड में 10 मैच खेले और 6 जीते। उसने इस साल 5 फ्रेंडली मैच में से 2 जीते और सिर्फ एक हारा।

    ग्रुप-Gबेल्जियम और इंग्लैंड

    रैंकिंगइंग्लैंड 12वें और बेल्जियम तीसरे पर है। ट्यूनिशिया 21वें और पनामा 55वें पर।

    फॉर्मइंग्लैंड ने 10 में से 8 मुकाबले जीते। दो ड्रॉ रहे। दो फ्रेंडली मैच जीते, एक हारा। बेल्जियम ने नौ जीते और एक मुकाबला ड्रॉ खेला। दो फ्रेंडली मैच जीते, एक ड्रॉ रहा। ग्रुप की टीम पनामा पहली बार वर्ल्ड कप में हिस्सा ले रही है। उसके अगले दौर में पहुंचने की उम्मीद बहुत कम है।

    अमेरिकन प्रो. आरपड ने बनाई थी ELO मैथड

    अमेरिका के प्रो. आरपड एलो ने कैलकुलेशन के लिए ELO रेटिंग सिस्टम बनाया था। पहले इसका प्रयोग शतरंज के लिए होता था। अब फुटबॉल, बास्केटबॉल, बेसबॉल में भी होता है।

    ग्रुप-Dअर्जेंटीना और क्रोएशिया

    रैंकिंगअर्जेंटीना 5वें और क्रोएशिया 20वें नंबर पर हैं। आइसलैंड 22वें और नाइजीरिया 48वें नंबर पर है।

    फॉर्मअर्जेंटीना ने क्वालिफाइंग राउंड में 18 मैच खेले और 7 जीते। 5 फ्रेंडली मैच में से 3 जीते और 1 हारा। क्रोएशिया ने क्वालिफाइंग राउंड में 10 मैच खेले और 6 जीते। इस साल 3 फ्रेंडली मैच में से 1 जीता और 1 हारा।

    ग्रुप-Hपोलैंड और कोलंबिया

    रैंकिंगकोलंबिया 16वें नंबर पर है। पोलैंड 8वें, सेनेगल 27वें और जापान 61वें पर है।

    फॉर्मकोलंबिया ने 7 मैच जीते, 6 ड्रॉ खेले। 5 में हार मिली। एक फ्रेंडली मैच जीता, दो ड्रॉ रहे। कोलंबिया की टीम पिछले वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी। जेम्स रोड्रिग्ज उसके सबसे बड़े स्टार हैं। पाेलैंड ने 8 जीते, एक ड्रॉ और एक हारा। एक फ्रेंडली मैच जीता, एक ड्रॉ, एक हारा।

    मेजबान रूस, उरुग्वे, मिस्र और सऊदी अरब का ग्रुप-ए सबसे कमजाेर (ELO रेटिंग)

    1704

    1879

    ग्रुप A B C D E F G H

    1864

    1830

    1881

    1874

    1799

    1796

  • 5 बार से बदल रहा चैंपियन, इस बार 8 दावेदार
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rau

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×