--Advertisement--

15 दिन से डरी-सहमी 4 साल की बच्ची बोली- अंकल डराते हैं, स्कूल नहीं जाऊंगी..., मां को लगा कोई और बात होगी, डराने का तरीका पूछा तो सामने आया हाई सिक्योरिटी स्कूल का गंदा सच

15 दिन से डरी-सहमी 4 साल की बच्ची मां से बोली-अंकल मुझे डराते हैं स्कूल नहीं जाऊंगी...

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 02:12 PM IST

सागर (एमपी)। हाई सिक्योरिटी का दावा करने वाली शहर की पारस विद्या विहार सीबीएसई स्कूल की एक 4 साल की छात्रा से स्कूल के ही प्यून द्वारा बाथरूम में छेड़खानी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बुधवार को पीड़िता के परिजनों के साथ अन्य अभिभावकों ने स्कूल परिसर में जमकर हंगामा किया, तब जाकर आरोपी को पुलिस के हवाले किया गया। उसके खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। आरोपी का बेटा भी इसी स्कूल में पढ़ता है।

बच्ची ने जब स्कूल जाने से करने लगी आनाकानी तो बेटी ने कहा- वो अंकल मुझे डराते हैं...

जानकारी के अनुसार- स्कूल का प्यूून देवकीनंदन अहिरवार करीब 15 दिन से नर्सरी की छात्रा के साथ बाथरूम में गंदी हरकत कर रहा था। छात्रा डर गई। उसने एक-दो दिन स्कूल जाने में अनाकानी की। मंगलवार रात छात्रा की मां ने उससे पूछा तो कहने लगी- मुझे अंकल डराते हैं। पहले बच्ची की मां को लगा कि कोई अौर बात होगी। उसने जब बच्ची से पूछा कि अंकल कैसे डराते हैं, तब बच्ची ने जो कुछ भी बताया उसे सुनकर मां कांप गई। आरोपी का बेटा बच्ची की क्लास में ही पढ़ता है। उस बच्चे का नाम लेते हुए छात्रा ने अपनी मां को आपबीती सुनाई। गुस्से से भरे परिजन बुधवार सुबह स्कूल पहुंचे। यहां जब बच्चों को छोड़ने और फिर लेने आए पेरेंट्स को इस घटना की जानकारी लगी तो वे स्कूल प्रबंधन पर सवाल उठाने लगे। एक बच्ची की मां का कहना था कि हम लोगों को अंदर जाने से रोका जाता है और अंदर यह सब चल रहा है।


बच्ची ने फोटो देखकर की आरोपी की पहचान


डरी सहमी बच्ची से पूछताछ के लिए महिला पुलिस घर गई। सिविल लाइंस थाना प्रभारी संगीता सिंह ने बताया कि थाने लाए गए स्कूल के तीनों कर्मचारियों के फोटो बच्ची को दिखाए गए थे। उसने देवकीनंदन को पहचान लिया है। पीड़ित की मां की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया है। अन्य बिंदुओं पर भी जांच चल रही है। स्कूल प्रबंधन की लापरवाही के संबंध में शिक्षा विभाग को लिखा जाएगा।


सीधी बात- अभिषेक जैन, डायरेक्टर पारस विद्या विहार....

Q. प्यून पर संगीन आरोप हैं, स्कूल प्रबंधन का क्या कहना है?
- मैं इस मामले में पेरेंट्स के साथ हूं, लेकिन प्यून पर लगे आरोपों की सत्यता की जांच किए बिना ही एफआईआर दर्ज कर ली गई है। यह एक गरीब के साथ न्याय नहीं है। उसके भी बच्चे बिलख रहे हैं।


Q. सीसीटीवी फुटेज देखे गए हैं, बच्ची ने भी शिनाख्त की है ?
- जब सुबह स्कूल में ही तीनों जेंट्स कर्मचारियों के सामने बच्ची से शिनाख्त कराई गई तब वह देवकीनंदन को नहीं पहचान पाई। इसके बाद थाने से वाट्सएप पर फोटो भेजा गया तो बच्ची ने सिर्फ इतना कहा है कि ये उसके साथ पढ़ने वाले बच्चे के पापा हैं। इसी आधार पर उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया।


Q. आप देवकीनंदन को निर्दोष मानते हैं तो फिर किसने बच्ची से हरकत की?
- मेरा सिर्फ इतना कहना है कि पहले सभी तथ्यों की जांच कर ली जाती। टायलेट के बाहर महिला कर्मचारी ड्यूटी पर रहती है न उससे पूछा गया न स्कूल स्टाफ से। टीअाई मैडम ने सीसीटीवी फुटेज 2010 के बताकर रिजेक्ट कर दिए। उस समय यह स्कूल ही नहीं बना था।


Q. आपने सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध क्यों नहीं कराए ?
- मेरे पास पीड़ित बच्ची के पेरेंट्स फुटेज मांगने आए थे। उन्होंने घटना मंगलवार की बताई है। मैं पिछले तीन दिन के फुटेज देने तैयार हूं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मेरी इस पूरे घटनाक्रम को लेकर चर्चा हुई है। आचार संहिता के दौरान रोड जाम करने वाले के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
X
Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
Sagar MP news 4-year-old girl physical abuse by School pune
Bhaskar Whatsapp

Recommended