• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • हादसे : खेतों की नरवाई में लगी आग घरों तक पहंुची, लोगों को बुझाने में लग गए चार घंटे
--Advertisement--

हादसे : खेतों की नरवाई में लगी आग घरों तक पहंुची, लोगों को बुझाने में लग गए चार घंटे

कृषि भूमि की उर्वरक शक्ति कम होने के बावजूद किसान नरवाई जला रहे हैं। वही महुआ पाने के चक्कर मे पेड़ के पास सूखे पड़े...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:10 AM IST
कृषि भूमि की उर्वरक शक्ति कम होने के बावजूद किसान नरवाई जला रहे हैं। वही महुआ पाने के चक्कर मे पेड़ के पास सूखे पड़े पत्तों से महुआ बीनने में आने वाली परेशानी को दूर करने सूखे पत्ते में आग लगाने की वजह से क्षेत्र में आगजनी की घटनाओं में इजाफा होता जा रहा है और किसानों की नादानी का दोष शासन प्रशासन पर थोपा जाता है ।

आगजनी की घटना को रोकने के लिए कृषि अमला ने भी अपने प्रशिक्षक कृषक मित्रों के माध्यम से खेतों में आग लगाने से कृषि उत्पादन में होने वाली क्षति का प्रचार प्रसार गांव-गांव में किया गया। शनिवार को अमरमऊ के आवरी मोहल्ला के वार्ड 11 के घरों में लगी आग लगने की वजह भी गांव के ही किसानों द्वारा नरवाई और महुआ पाने की चक्कर में लगाई गई आग की वजह बताई जा रही है। तेज हवा के साथ आई आग से करीब आधा दर्जन घरों तबाह कर दिया। घरों में रखा भूसा लकड़ी में लगी आग और हवा दोनों का संपर्क होते ही आग गांव में फैलती जा रही थी घरों से निकले परिवारों से सभी लोग आग बुझाने में लग गए। सूचना मिलने पर ग्राम पंचायत टैंकर और शाहगढ़ नगर परिषद की फायर ब्रिगेड तथा पुलिस बल की मदद से करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग से अजुद्दी भागचंद रति अहिरबार के घर जलकर राख हो गए वहीं मिजाजी विश्वकर्मा बालचंद पटेल हरिराम गनपत दलु अहिरवार इधर आओ में रखे भूसा पूरी तरह जल गया।मोके पर पहुचे टीआई कृपाल मार्को ने नरवा और महुआ के चक्कर में लगी आग गांव तरफ फैल गई उन्होंने खेतों में नरवाई ना जलाने के संबंध में किसानों को हिदायत दी।

सेवन के जंगल में लगी भीषड़ आग

बांदरी। बांदरी थाना अतंर्गत आने वाले ग्राम सेवन के जंगल में भीषड़ आग लगी। यह आग करीब तीन-चार दिन से लगी हुई है। यहा पर न वन आरक्षक का पता है और न वन अमला इस ओर ध्यान दे रहा है। यह तस्वीर आज शाम 7:30 पर करीब 5 किमी दूरी से ली गई है।

सहजपुरी के खलिहान में पाइप खाक

सहजपुरी निवासी महेंद्र पिता गयाप्रसाद के खलिहान में 28 मार्च की रात अचानक आग लग गई। जिसमें उनका रखा पांच ट्रॉली गेहूं और सिंचाई पाईप जलकर खाक हो गए।

शाहगढ़ ब्लॉक के अमरमऊ के आवरी मोहल्ला में आगजनी की घटना के बाद लोगों ने अपने-अपने तरीके से आग बुझाई