• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • आस्था: सिद्धबाबा दरबार में दंड भरते हुए पहुंच रहे श्रद्धालु
--Advertisement--

आस्था: सिद्धबाबा दरबार में दंड भरते हुए पहुंच रहे श्रद्धालु

बलारपुर खडेरा में सिद्ध धामों के प्रति पुरातन काल से समूचे अंचल में श्रद्धालुओं की अटल श्रद्धा भक्ति के अदभुत...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 05:10 AM IST
बलारपुर खडेरा में सिद्ध धामों के प्रति पुरातन काल से समूचे अंचल में श्रद्धालुओं की अटल श्रद्धा भक्ति के अदभुत दर्शन हो रहे हैं। सिद्ध धामों तक पहुंचे वाले मार्गो पर आस्था भक्ति देखी जा सकती है। जहां ऐसी मान्यता है कि इन सिद्ध दरबारों पर जो भी मन्नतें मांगी जाती पूरी होती है और मन्नतें पूरी होने पर श्रद्धालुओं अपने घर से कष्टों की परवाह किए बिना आस्था के बांधे दंड भरते हुए सिद्ध धाम तक पहुंचते हैं।

कुछ ऐसा ही आस्था की डोर से बंधे श्रद्धालुओं का एक जत्था छपरवाह से बनवार अंचल में 41 डिग्री के तापमान चिलचिलता धूप में गर्म सड़क पर दंड भरते हुए 25 किमी का सफर तय करके खडेरा बलारपुर को निकला था अटूट आस्था के चलते इतनी कठोर साधना का यह लंबा सफर तय करते वक्त न तो रास्ते के कष्टों की परवाह थी न ही शरीर में जरा भी थकान थी। श्रद्धालुओं ने बताया कि भखवारा बोहरिवन निवासी मिछि राजपूत की बच्ची का स्वास्थ्य लंबे समय से खराब था और चिकित्सकों से उपचार करवाकर कुछ आराम नहीं होने की स्तिथि में यह परिवार थकाहारा घर बैठ गया था। तभी ग्राम छपरवहा में अपनी ससुराल आने पर खडेरा बलारपुर सिद्ध धाम की महिमा सुनकर बच्ची सहित यह परिवार दर्शनों की सिद्ध धाम पहुंचा था। और बच्ची के स्वस्थ्य होने की मन्नत मांगी थी और कुछ समय ही पूर्ण होने पर छपरवहा से खडेरा बलारपुर सिद्ध धाम तक दंड भरते हुए 25 किमी का सफर तय निकला था। वैशाख पूर्णिमा को सिद्ध धाम एक दिवसीय रात्रि भर आस्था का मेला लगता है। जिसमे जिले भर के गांव गांव से लोग दर्शनों को पहुंचते हैं।